Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    15 कुख्यात अंतर्राज्यीय डकैतों व लुटेरों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

    15 कुख्यात अंतर्राज्यीय डकैतों व लुटेरों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

    शाहजहाँपुर पुलिस की बड़ी कामयाबी, डकैतों के विरूद्ध गैंगस्टर की कार्यवाई  

    शाहजहाँपुर- उत्तरप्रदेश : SOG व थाना कटरा पुलिस टीम द्वारा अंतर्राज्यीय डकैतो/ लुटेरे गिरोह का खुलासा कर 15 कुख्यात बदमाशों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था । अभियुक्तो द्वारा जनपद शाहजहाँपुर के थानाक्षेत्र निगोही, मदनापुर, कलान, पुवायां, कटरा, सदर बाजार , जलालाबाद के साथ साथ  फतेहगंजपूर्वी जनपद बरेली,  सीतापुर, प्रतापगढ, वाराणसी, गोरखपुर महराजगंज,  बिहार, पंजाब, हरियाणा दिल्ली व राजस्थान मे लूट , चोरी, डकैती नकबजनी आदि घटनाएं कारित की गयी थी।

     एस. आनन्द पुलिस अधीक्षक जनपद शाहजहाँपुर द्वारा अपराध की रोकथाम के लिए उक्त बदमाशो पर कडी कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये जिसके क्रम मे संजीव कुमार, अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण के पर्यवेक्षण व क्षेत्राधिकारी तिलहर के निर्देशन मे  थाना कटरा पुलिस द्वारा 15 कुख्यात बदमाशो के विरूद्ध गैंगस्टर की कार्यवाही की  गयी ।

     इसी क्रम मे  थाना कटरा पुलिस टीम द्वारा कुख्यात बदमाशों सुखपाल, मुनीश कुमार उर्फ त्यागी, धर्मेन्द्र गुप्ता उर्फ कल्लू, मिशरार पुत्र इसरार, साने आलम, अनीस पुत्र बन्ने, वशुदेव पुत्र धनपाल, मिदरी पुत्र सुल्तान, अजीज पुत्र लल्ले खाँ, इरफान पुत्र अख्तर,  इकबाल पुत्र जाफर, आमिन पुत्र जहीर नि0ग्रा0 नगरिया कला थाना फतेगंजपूर्वी जनपद बरेली, अतीक पुत्र नजरी, निसार पुत्र नसीर व नाज मोहम्मद पुत्र सैद मोहम्मद उर्फ शेर मोहम्मद  के विरुद्ध  गैंगस्टर की कार्यवाही की गयी । इस सम्बन्ध मे थाना कटरा पर आज मु0अ0स0  348/2021 धारा 2 /3 गैंगेस्टर एक्ट पंजीकृत किया गया तथा शीघ्र ही अपराधियों द्वारा अपराध कारित करके की गयी अर्जित सम्पत्ति के जब्तीकरण की कार्यवाही की जायेगी ।

    ************

    अपराध कारित करने का तरीकाः-

    उक्त अभियुक्तगण बहुत ही शातिर एवं कुख्यात बदमाश है इनके द्वारा संगठित गिरोह बनाकर अपने व अपने गैंग के सदस्यों के लिये अपराध कारित करके भौतिक एवं आर्थिक अनुचित लाभ अर्जित करते है । अभियुक्तगण  संयुक्त रूप से अपनी लक्सरी गाड़ियों से चलकर आस पास के जनपद तथा अन्य राज्यों बिहार, पंजाब, राजस्थान, उत्तराखण्ड,हरियाणा, दिल्ली में जाकर बाहरी किनारों पर स्थित अच्छे से बने घरों में छत, जीने (सीढियाँ) व दीवार के रास्ते घुसकर नगदी तथा जैवरात की चोरी करते थे । जहाँ घटना करनी होती है उसके करीब 100 किमी0 पहले ही सभी लोग अपने-अपने मोबाईल बन्द कर लेते थे और रात्रि में जिस जगह घटना करनी होती थी उससे कुछ पहले गाड़ी रोककर अपने कपड़े जुता, चप्पल उतारकर झाडियों में या पेड़ पर बाधकर टांग देते थे । केवल नेकर-बनियान पहनकर घटना करने जाते थे । गाड़ी को वहाँ से 10-15 किमी0 दूर होटल ढाबे पर खड़ी करा देते थे ताकि किसी को शक न हो । सुबह 3 बजे का समय निर्धारित कर जहाँ पर गाड़ी मंगानी होती थी वहाँ सड़क पर पहचान के लिए एक लकड़ी तोडकर डाल देते थी । घटना करते समय कुछ लोग घर के बाहर खड़े होकर निगरानी रखते थे तथा एक व्यक्ति घर के अन्दर घुसकर दरवाजा खोल देता था और अन्य सभी लोग दबे पाँव अन्दर घुस जाते थे यदि घर वाले जाग जाते थे तो पूर्व से तय की गयी मुँह से पशु-पक्षियों की अलग-अलग आवाज निकालकर भागने का इशारा देते थे  जिससे  लोग समझकर मौके से भाग जाते थे और जाग ना होने पर आला नकब व पैंचकस की मदद से धीरे-धीरे ताले व लॉकर व सैफ तोडकर नगदी व जैवरात आदि चोरी कर लेते थे । जो जेवर व नगदी मिलता था उसे बराबर-बराबर हिस्से मे बांट लेते थे । 

    फ़ैयाज़ उद्दीन, शाहजहाँपुर- उत्तरप्रदेश
    INA NEWS(Initiate News Agency)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.