Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या गुप्तारघाट में सरयू में डूबे 12 में से 7 काल के गाल में समा गए

    अयोध्या गुप्तारघाट में सरयू में डूबे 12 में से 7 काल के गाल में समा गए

    तीस घंटा से ज्यादा बीत जाने के बाद अभी भी दो लापता, सात की लाश बरामद, तलाश जारी

    अयोध्या - उत्तरप्रदेश : अयोध्या में गुप्तार घाट पर सरयू में नहाने के दौरान डूबे 15 में से 2 लोग अभी भी लापता हैं।आज दोपहर 16 साल की प्रियांशी का शव हादसा वाली जगह से  दूर बाटी बाबा आश्रम के पास से मिला है। इसके बाद इस हादसे में मृतकों की संख्या 7 हो गई है। मृतकों में दो महिलाएं, दो पुरुष और तीन बच्चे शामिल हैं। बाकी 6 लोगों को बचा लिया गया था। इनमें से तीन को अस्पतालों में भर्ती करवाया गया है। सभी एक ही परिवार के रहने वाले थे और रामलला के दर्शन करने के लिए आगरा से अयोध्या आए थे। दर्शन तो दर्शन बन गया। सरयू के धारा में इसटीमर से लुफ्त उठाने का मजार धरा का धरा रह गया और अयोध्या से गुप्तार घाट तक देखते ही देखते उस स्थान पर पहुंच गई जहां से भगवान श्रीराम ने जल समाधि लेकर परमधाम को गए थे। उसी प्रकार ये लोग भी काल के गाल में समा कर परम लोग को चले गए।

    हादसा  गुप्तार घाट पर दोपहर में हुआ था। तब से एनडीआरएफ के 60 जवान, एसडीआरएफ के 40 जवानों के अलावा जल पुलिस और स्थानीय गोताखोर हादसे में डूबे लोगों को खोज रहे हैं। रेस्क्यू ऑपरेशन को तीस घंटे हो चुके हैं। अभी भी 2 लोग लापता बताए गए हैं।

    सिकंदरा थानाक्षेत्र के शास्त्रीपुरम निवासी अशोक पुत्र नेमीचंद ( 65) अपनी पत्नी राजकुमारी ( 61) पुत्र ललित (40) व पंकज (25), पुत्री जूली (29) व गौरी (28) समेत अपने शादी-शुदा तीन बेटियों, पांच बच्चों व एक दामाद के साथ अयोध्या  आए थे। दर्शन-पूजन के बाद अयोध्या रामनगरी के नया घाट से एक स्टीमर को पांच हजार में बुक करके करीब 12 किलोमीटर दूर गुप्तार घाट आए। यहां घाट पर टहलते हुए करीब दो सौ मीटर दूर सूनसान इलाके के कच्चा घाट पर चले गए। जहां पहले चार महिलाएं हाथ-पैर धोने नदी में गईं, देखते ही देखते बच्चे व पुरुष सदस्य भी पानी में आ गए। जूली का पैर फिसला और उफनाई सरयू की तेज धारा में बहने लगी। बचाने में चार महिलाएं भी धारा में जाने लगीं। अफरातफरी में मासूम धैर्या (6) पुत्री ललित समेत एक-एक कर 12 लोग बह गए। अशोक, उनका दामाद सतीश पुत्र जगमोहन (40) व नमन पुत्र उसरा (12) बाहर निकले और शोर मचाना शुरू किया।

    दौड़कर गुप्तारघाट आकर मदद मांगी, तो तत्काल नाविक व गोताखोर मौके पर पहुंचे और पुलिस व प्रशासन को खबर दी गई। सूचना पर आईजी, डीएम, एसएसपी, एसपी सिटी  समेत अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे और हादसे की जानकारी ली। एसएसपी ने स्वयं स्टीमर पर सवार होकर लापता लोगों की तलाश की। तत्काल रेस्क्यू टीम ने आरती पत्नी सतीश (35) और गौरी पुत्री अशोक (28) को नदी से जिंदा निकाल लिया गया। मासूम धैर्या जमथरा कच्चाघाट पर लहरों के थपेड़ों के बीच बचकर किनारे मिली। इस प्रकार 15 में से छह लोग बच ग्रे और सात लोग काल के गाल में समा गए दो अभी तक ला पता है।

    देव बक्श वर्मा, अयोध्या - उत्तरप्रदेश
    INA NEWS(Initiate News Agency) 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.