Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या: जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव सपा बसपा के लिए प्रतिष्ठा का सवाल

    अयोध्या: जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव सपा बसपा के लिए प्रतिष्ठा का सवाल

    अयोध्या - उत्तरप्रदेश : धर्म नगरी अयोध्या में जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव होने जा रहा है जिसके लिए सपा बसपा एड़ी चोटी का जोर लगा रहे हैं और दोनों दलों के लिए यह सीट प्रतिष्ठा की सीट मानी जा रही है। जिला पंचायत अध्यक्ष में कौन बाजी मारता है इसका फैसला मतगणना के बाद ही हो पाएगा। किंतु जो समीकरण दिखाई पड़ रहे हैं उसमें समाजवादी पार्टी भारी पड़ रही है। अयोध्या जनपद  में 40 सदस्यों वाली जिला पंचायत है। जिला पंचायत सदस्यों के चुनाव में समाजवादी पार्टी ने सबसे ज्यादा सदस्य जीते हैं। समाजवादी पार्टी के पूर्व मंत्री अवधेश प्रसाद ने कहा की अयोध्या जनपद में 40 सदस्यों वाली जिला पंचायत ने समाजवादी पार्टी के जिला पंचायत में   24 सदस्य हैं।

     जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में समाजवादी पार्टी ने सत्ताधारी भाजपा पर भ्रष्ट तरीके अपनाने का आरोप लगाया है। ऐन केन प्रकारेण अध्यक्ष पद पर कब्जा जमाना चाहती है। उक्त आरोप  को  पार्टी के जिला अध्यक्ष गंगा सिंह यादव ने लगाए हैं। कहा कि 40 सदस्यों वाली जिला पंचायत में 32 सीटें गैर भाजपा सदस्यों ने जीती हैं। जिसमें 24 सपा समर्थित प्रत्याशियों की जीत हुई है।

    फिर भी पार्टी प्रत्याशी इंदूसेन यादव की जीत के लिए हमारे सभी 24 सदस्य संकल्पित हैं। जबकि सत्ता के बल पर नैतिकता को ताख पर रखते हुए भाजपा अध्यक्ष की कुर्सी पर कब्जा जमाने की हथकंडे अपना रही। अभी गोसाईंगंज से सपा के पूर्व विधायक अभय सिंह पर फर्जी मुकदमा दर्ज कराया गया है। सदस्यों को भी धमका रही है। जिलाध्यक्ष ने कहा कि भाजपा का उद्देश्य जनसेवा नहीं बल्कि सत्ता हासिल करना है। राजनीतिक, आर्थिक, धार्मिक व सामाजिक स्तर पर भाजपा का भ्रष्टाचार दिखाई पड़ रहा है। पार्टी के राष्ट्रीय सचिव व पूर्व मंत्री अवधेश प्रसाद ने कहा कि अपने 24 सदस्यों के बल पर समाजवादी पार्टी जिले में तीसरी बार जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी प्राप्त करेगी। जबकि 5 अन्य सदस्य भी पार्टी पदाधिकारियों के सम्पर्क में हैं। पूर्व मंत्री ने कहा कि अध्यक्ष पद की प्रत्याशी इंदूसेन पूर्व में ब्लाक प्रमुख रह चुकी हैं।  राजनीतिक संघर्ष भी किया है। पूरे जनपद को एक परिवार की तरह साथ लेकर चलेंगी। कहा कि विश्वास है कि प्रशासनिक अफसर भी निष्पक्ष रहते हुए महत्वपूर्ण भूमिका निभांएँगे। अध्यक्ष पद पर इंदुसेन की जीत आगामी विधानसभा चुनाव 2022 में पार्टी प्रत्याशियों के लिए मार्ग प्रशस्त करेगी।  सपा प्रत्याशी इंदुसेन ने कहा कि बगैर भेदभाव लोकतंत्र मूल्यों के तहत जनपद के विकास व लोगों के सहयोग को समर्पित रहूंगी। वहीं पर भारतीय जनता पार्टी भी सशक्त प्रत्याशी जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में उतार रही है और क्योंकि अयोध्या भगवान श्रीराम की धर्मनगरी है जिस कारण भारतीय जनता पार्टी इस सीट को अपनी प्रतिष्ठा की सीट मानकर कार्य कर रही है अध्यक्ष जिला पंचायत सदस्य भाजपा के कम है फिर भी मजबूती के साथ ताल ठोक कर मैदान में उतर रही है अब देखना है कि जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी सपा के पक्ष में जाती है या भाजपा के पक्ष में। 

    देव बक्श वर्मा, अयोध्या - उत्तरप्रदेश
    INA NEWS(Initiate News Agency) 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.