Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    आप' ने मांगा खुशी दुबे के लिए इंसाफ, सौंपा ज्ञापन

    आप' ने मांगा खुशी दुबे के लिए इंसाफ, सौंपा ज्ञापन

    प्रयागराज- उत्तरप्रदेश : बिकरु कांड में खुशी दुबे ,क्षमा दुबे, शांति दुबे, रेखा अग्निहोत्री,जेल में कैद निर्दोष ढाई साल के मासूम सहित 4 महिलाओं की रिहाई के लिए राज्यपाल को जिला अध्यक्ष डॉ. अलताफ अहमद ने ज्ञापन सौंपा|प्रदेश भर में शुक्रवार को आम आदमी पार्टी ने कानपुर के बिकरु कांड में विधि विरुद्ध ढंग से 10 माह से कैद खुशी दुबे समेत 4 महिलाओं और ढाई साल के मासूम की रिहाई के लिए आवाज उठाई। सभी जिलों में जिला प्रशासन के जरिए राज्यपाल को ज्ञापन देकर मामले में हस्तक्षेप करने की अपील की गई।

    ज्ञापन के जरिये आम आदमी पार्टी के जिला अध्यक्ष डॉ. अलताफ अहमद की ओर से प्रशासन के माध्यम से राज्यपाल को अवगत कराया गया है  कि कानपुर के बिकरु कांड में कई महिलाओं को नियम क़ानून को ताक पर रखकर पिछले 10 महीनों से जेल में रखा गया है, जिसमें  नाबालिग ख़ुशी दुबे पत्नी अमर दुबे, अमर दुबे की माँ क्षमा दुबे, विकास दुबे की नौकरानी रेखा अग्निहोत्री व हीरू दुबे की माँ शांति दुबे शामिल हैं।

    बिकरु काण्ड में अमर दुबे के एनकाउंटर से तीन दिन पहले ख़ुशी दुबे से उसकी शादी हुई थी, पुलिस के रिकॉर्ड में ख़ुशी दुबे के विरुद्ध पहले से कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं था। ख़ुशी दुबे नाबालिग है, उसकी गिरफ़्तारी के बाद जब मीडिया में मामले ने तूल पकड़ा तो कानपुर के तत्कालीन एसएसपी दिनेश कुमार ने मीडिया में बयान दिया की ख़ुशी दुबे निर्दोष है और उसको रिहा कर दिया जाएगा। पिछले 10 महीने से ख़ुशी दुबे जेल में है। कई बार उसे अति गंभीर हालत में बाराबंकी व लखनऊ के अस्पतालों में भर्ती कराया गया। उसको खून की उल्टियां हुईं। इन घटनाओं से परिवार के लोग डरे और सहमे हुए हैं और उन्हें अपनी बेटी के जीवन की चिंता है कि कहीं जेल में उसके साथ कोई अनहोनी न हो जाए, उसका जीवन न चला जाए।

    इस मामले में सबसे बड़ा सवाल है कि जब स्वयं तत्कालीन एसएसपी मान चुके हैं की खुशी दुबे निर्दोष है तो उसे किस आधार पर उसे जेल में रखककर जेल में 10 महीने से यातनाएं दी जा रही हैं|

    इखलाक हैदर, प्रयागराज- उत्तरप्रदेश 
    INA NEWS(Initiate News Agency)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.