Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या जनपद में मानसूनी बरसात के चलते कच्ची दीवार गिरने से एक बालिका और एक महिला की मौत

    अयोध्या जनपद में मानसूनी बरसात के चलते कच्ची दीवार गिरने से एक बालिका और एक महिला की मौत

    अयोध्या - उत्तरप्रदेश : अयोध्या जनपद में मानसूनी बरसात होने से दीवार गिर गई। जिसमे दब कर एक बालिका और एक महिला की मौत हो गई है। मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश में मानसून आ गया है। और मानसूनी बरसात भी दिन रात हो रही है। आशा है कि कई दिन तक ऐसे ही बरसात  बना रहेगा। सबसे बड़ी बात है एक तरफ लोग अभी अपने खेत को धान की रोपाई के लिए तैयार नहीं कर पाए हैं। वहीं दूसरी तरफ कच्चे मकान वाले अपने मकान की मरम्मत भी नहीं करा पाए हैं। छप्पर रखने वाले भी नहीं रख पाए हैं। क्योंकि मानसून थोड़ा पहले आ गया है। इसलिए ग्रामीण अंचल में लोगों के सामने‌| समस्या है कि आखिर अब अपने जानवरों को कहां रखें।

    अयोध्या जनपद में बरसात के चलते दो थाना क्षेत्रों में कच्ची दीवार गिरने से एक बालिका व एक महिला की मौत हो गई। थाना कैंट के ताजपुर कोंडरा व मवई क्षेत्र में हुआ हादसा। मोबाइल क्षेत्र में हुए कच्ची दीवार गिरने से दबकर मृतकों के लिए देखने क्षेत्रीय विधायक रामचंद्र यादव ने पहुंच कर देखा और हर संभव सहायता की बात कही। मॉनसून ने दी दस्तक,  जिलों में 5 दिनों तक होगी झमाझम बारिश। मॉनसून ने दी दस्तक, जिलों में 5 दिनों तक होगी झमाझम बारिश।

    इस अवधि में पूरब के कई इलाकों में मध्यम से भारी बरसात का अनुमान है, जबकि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में भी गरज-चमक के साथ बारिश के आसार हैं।

    अयोध्या  मौसम विभाग ने उत्तर प्रदेश में मॉनसून के प्रवेश करने का ऐलान कर दिया है. इस बार समय से लगभग एक हफ्ते पहले 13 जून को मॉनसून  की सूबे में आमद हो गई है।

    पूर्वांचल  के रास्ते प्रदेश में मॉनसून का आगमन हुआ है। मौसम विभाग के मुताबिक आंधी पानी का यह सिलसिला कम से कम अगले पांच दिनों तक जारी रहने के आसार हैं। इस अवधि में पूरब के कई इलाको में मध्यम से भारी बरसात की संभावना जताई गई है, जबकि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में गरज-चमक के साथ बारिश के आसार हैं।

     मौसम का ऐसा ही मिजाज बना रहेगा. गर्मी से राहत रहेगी और लोग बरसात का आनंद उठा पाएंगी प्रदेश में आम तौर पर 17-18 जून को मॉनसून की इंट्री होती है। मॉनसून के आगमन से किसान पशोपेश मे  हैं।ज्यादातर जिलों में धान की नर्सरी अभी तैयार नहीं है। ऐसे में बुवाई के लिए कुछ और दिन का इंतजार करना पड़ेगा। किसानों को इस बात की चिंता है कि मॉनसूनी बारिश के पहले ही हो जाने से कहीं ऐसा न हो की बुवाई के समय बरसात ना हो।

    देव बक्श वर्मा, अयोध्या - उत्तरप्रदेश
    INA NEWS(Initiate News Agency) 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.