Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    दिल्ली में विस्टा परियोजना के तहत आने वाली मस्जिदों की सुरक्षा पर चिंता जाहिर की

    दिल्ली में विस्टा परियोजना के तहत आने वाली मस्जिदों की सुरक्षा पर चिंता जाहिर की

    मौलाना महमूद मदनी ने भारत सरकार के मंत्री हरदीप सिंह पुरी को पत्र लिखकर इन मस्जिदों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की

    देवबंद/सहारनपुर उत्तरप्रदेश : जमीयत उलमा-ए-हिंद के अध्यक्ष मौलाना महमूद असद मदनी ने दिल्ली में विस्टा परियोजना के तहत आने वाली मस्जिदों की सुरक्षा पर चिंता जाहिर करते हुए भारत सरकार के मंत्री हरदीप सिंह पुरी को पत्र लिखकर इन मस्जिदों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की है।  बुधवार को लिखे पत्र में मौलाना महमूद असद मदनी ने कहा की विस्टा प्रोजेक्ट के तहत आने वाली मस्जिदों के मामले में कोई नकारात्मक रवैया स्वीकार नहीं किया जाएगा और किसी विकल्प की कोई गुंजाइश भी नहीं है। उक्त विकास परियोजना के अंतर्गत आने वाले क्षेत्र में जाब्ता गंज मस्जिद (मान सिंह रोड), रकाबगंज मस्जिद (गुरुद्वारा श्री रकाब गंज साहिब के पास), कृषि भवन मस्जिद (कृषि भवन), सुनहरी बाग रोड मस्जिद (उद्योग भवन  के पास), एक सार्वजनिक मस्जिद जिसे बाद में उपराष्ट्रपति हाउस का हिस्सा बनाया गया था, शामिल हैं।

    मौलाना मदनी ने स्पष्ट रूप से कहा है कि ये मस्जिदें हमारी प्राचीन विश्व विरासत का हिस्सा हैं, जिन्हें किसी भी हाल में संरक्षित किया जाना चाहिए। यदि वे क्षतिग्रस्त हो जाती हैं, तो पूरे विश्व में देश की बदनामी होगी और देश के एक बड़े वर्ग की भावनाओं के साथ खिलवाड़ होगा। इसलिए उनकी सुरक्षा के लिए भारत सरकार के पास एक ठोस योजना होनी चाहिए जिसकी घोषणा वह स्पष्टता के साथ करे। मौलाना महमूद मदनी ने यह भी कहा की चारों मस्जिदों वर्तमान में आबाद हैं। जहां तक भारत गणराज्य के उपराष्ट्रपति के निवास के परिसर में स्थित मस्जिद का सवाल है, तो इसे भी इसके मूल उद्देश्य के लिए सुरक्षित किया जाना चाहिए।

    शिबली इक़बाल, देवबंद/सहारनपुर उत्तरप्रदेश
    INA NEWS(Initiate News Agency)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.