Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    फर्जी कागजात लगाकर सरकारी नौकरी करने वाले शिक्षक पर एफआईआर

    फर्जी कागजात लगाकर सरकारी नौकरी करने वाले शिक्षक पर एफआईआर

    • • फर्जी दस्तावेज लगा कर 4 साल तक सरकारी स्कूल में नौकरी करने वाले शिक्षक के खिलाफ एफआईआर।
    • • घर गई पुलिस ने सौरभ अवस्थी नामक शिक्षक को पकड़ा, लेकिन शिक्षा विभाग ने नकारा।
    • • पुलिस ने बताया कि फर्जी शिक्षक फरार, उसे बचाने के लिए छोटे भाई ने गलत बयान दिया।

    गाज़ीपुर : गाज़ीपुर के गहमर थाना अंतर्गत, भदौरा क्षेत्र के कन्या प्राथमिक पाठशाला सेवराई में सौरभ अवस्थी नाम के शिक्षक को फर्जी कागजात लगाकर सरकारी नौकरी करने वाले शिक्षक के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज किए जाने के लगभग ढाई माह बाद शासन के निर्देश जारी होने के बाद गहमर थाने की पुलिस फर्जी शिक्षक को गिरफ्तार करने उसके घर दुल्लहपुर थाना इलाके के अमहारिपुर गांव पहुंची थी। जहां से पुलिस फर्जी शिक्षक के छोटे भाई को पकड़ लाई। जिसके बाद पकड़े गए युवक की पहचान कराने स्थानी बीआरसी ले जाया गया तो पता चला कि, ये शिक्षक सौरभ अवस्थी नहीं बल्कि उसका छोटा भाई  आलोक अवस्थी है। 

    हरिनारायण शुक्ल, इंस्पेक्टर, गहमर, गाज़ीपुर

    इस बात की पुष्टि गहमर थानाध्यक्ष एच एन शुक्ल ने भी की। बता दें कि गहमर थाना इलाके के भदौरा ब्लॉक के कन्या प्राथमिक विद्यालय सेवराई पर लगभग तीन-चार वर्षों से फर्जी कागजातों के सहारे शिक्षक बनकर सौरभ अवस्थी पुत्र लालबहादुर अवस्थी निवासी ग्राम अम्हारी थाना दुल्लहपुर का निवासी युवक नौकरी करता था जब दस्तावेजों का मिलान व जांच किया गया तो सौरभ अवस्थी का शैक्षणिक प्रमाण पत्र फर्जी निकले उसके बावजूद भी अधिकारियों की मिलीभगत से उसका वेतन मिलता रहा। जब उच्चा- धिकारियों का दबाव बढ़ा तो, तत्कालीन खंड शिक्षा अधिकारी सुदामा द्वारा 1अप्रैल 2020 को गहमर थाने में तहरीर देकर प्राथमिकी दर्ज कराई गई। इसके बाद मामला ठंडे बस्ते में चला गया और उक्त शिक्षक भी फरार हो गया, वही जब एक बार पुनः शासन का दबाव फर्जी शिक्षक को गिरफ्तार करने के लिए बना तो पुनः गहमर पुलिस हरकत में आते हुए रविवार की रात्रि शिक्षक के गांव अम्हारीपुर पहुंचकर अपने को सौरभ अवस्थी बता रहे फर्जी शिक्षक को हिरासत में लेकर आज सोमवार को पहचान कराने ब्लॉक संसाधन केंद्र भदौरा पहुंची, तो पता चला कि हिरासत में लिया गया फर्जी शिक्षक नहीं, बल्कि उसका भाई आलोक अवस्थी है। इस संदर्भ में गहमर थाना के पुलिस निरीक्षक हरिनारायण शुक्ला ने बताया कि रात्रि दबिश देने के बाद जब पूछा गया कि सौरभ कहां है तो उक्त व्यक्ति अपने आपको सौरभ बताया । लेकिन पहचान करने पर हिरासत में लिया गया व्यक्ति फर्जी शिक्षक सौरभ अवस्थी का भाई आलोक अवस्थी निकला, जिससे फर्जी शिक्षक सौरभ अवस्थी के संबंध में पूछताछ करने पर पता चला कि वह फिलहाल मुंबई में रह रहा है।

    महताब आलम, गाजीपुर
    INA NEWS(Initiate News Agency)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.