Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    रेमीडिसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी के मामले में एक गिरफ्तार

    रेमीडिसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी के मामले में एक गिरफ्तार

    कन्नौज- उत्तरप्रदेश : कन्नौज में रेमीडिसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी का मामला सामने आया है। यहा मेडिकल कालेज आउटसोर्सिंग कर्मी गिरोह बनाकर रेमीडिसिविर की कालाबाजारी कर रहा था। उसने एक दरोगा के बेटे से इंजेक्शन के नाम पर 95 हजार रुपये ले लिये और पूरे इंजेक्शन नही दिये। जब दरोगा को इसकी जानकारी हुई तो उन्होंने स्थानीय पुलिस को पूरा मामला बताया। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर कार्यवाही शुरू कर दी है।

    मैनपुरी के रहने वाले भगवान दास लखनऊ स्थित पुलिस हेड क्वाटर्स में तैनात है। उसकी पत्नी माया देवी कोविड पॉजिटिव हो गईं थी। मायादेवी को पुत्र अभिषेक ने 22 मई को कन्नौज मेडिकल कालेज में भर्ती कराया। कालेज के आउटसोर्सिंग कर्मचारियों सूरज ने अभिषेक को बताया कि रेमीडिसिविर इंजेक्शन लगने से तुम्हारी मां जल्दी ठीक हो जाएंगी।

    प्रशांत वर्मा (एसपी कन्नौज)

    इसके लिए उसने 15 हजार का एक इंजेक्शन देने की बात तय की और 95 हजार एडवांस भी ले लिये। जब दरोगा पुत्र ने सूरज से इंजेक्शन का बिल व रेपर मांगा तो उसने मना कर दिया। यह बात उसने अपने दरोगा पिता भगवान दास से बतायी। भगवान दास ने तिर्वा कोतवाली पुलिस को पूरे मामले की जानकारी दी। जिसके बाद पुलिस ने बिना देर किये सूरज को गिरफ्तार कर लिया। कन्नौज एसपी प्रशांत कुमार का कहना है की एक आरोपी पकड़ा गया है। जल्द ही उसके बाकी साथी भी पुलिस की गिरफ्त में होंगे। 

    रईस खान, कन्नौज- उत्तरप्रदेश
    INA NEWS(Initiate News Agency) 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.