Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    पोषण स्तर में सुधार लाने के लिए शुरू हुआ ‘वजन सप्ताह’, 74000 से अधिक बच्चों का किया गया वजन

    पोषण स्तर में सुधार लाने के लिए शुरू हुआ ‘वजन सप्ताह’, 74000 से अधिक बच्चों का किया गया वजन 

    पाँच वर्ष तक के बच्चों के लिए 24 जून तक आंगनवाड़ी केंद्रों पर मनाया जाएगा वजन सप्ताह - जिला कार्यक्रम अधिकारी

    गाजीपुर : जनपद में गुरुवार (17 जून) से पोषण स्तर में सुधार लाने व कुपोषित बच्चों की पहचान के लिए वजन सप्ताह शुरू किया गया है। देश को सशक्त बनाने के लिए सरकार ने नौनिहालों के पोषण स्तर पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है, इसलिए वजन सप्ताह के द्वारा कुपोषण की सबसे गंभीर श्रेणी में सैम, मैम कम वजन के बच्चों को चिन्हित कर चिकित्सीय उपचार, परामर्श और उचित परामर्श और माता-पिता की उचित देखभाल से स्वस्थ बनाना और सुपोषित करना है।

    जिला कार्यक्रम अधिकारी (डीपीओ) दिलीप कुमार पांडे ने बताया - जनपद में ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में कुल 4127 आंगनवाड़ी केंद्र है, सभी केंद्रों पर वजन सप्ताह 17 से शुरू हो चुका है जो 24 जून तक मनाया जाएगा। अब तक 74286 बच्चों का वजन किया जा चुका है। उन्होंने बताया – कोविड-19 गतिविधियों में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की व्यस्तता होने के कारण कार्य योजना में समन्वय स्थापित कर यह सप्ताह अलग-अलग दिन जिले के सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए वजन सप्ताह मनाया जाएगा।

    जिला कार्यक्रम अधिकारी ने बताया कि एक जुलाई से दो अक्टूबर के मध्य जनपद में "संभव पोषण संवर्धन की ओर एक कदम" नाम से यह अभियान चलाया जाएगा इस दौरान वजन सप्ताह में चिन्हित किए गए सैम, मैम, गंभीर कम वजन बच्चों के लिए सघन समुदायिक गतिविधियां जैसे सप्ताहिक गृह भ्रमण स्वास्थ्य जांच, चिकित्सीय उपचार और कुपोषित बच्चों को पोषण पुनर्वास केंद्र में भेजकर इलाज किया जाएगा। उन्होंने बताया कि कुपोषित व अतिकुपोषित बच्चों को चिन्हित कर उन्हें इस श्रेणी से बाहर लाने के लिए अभिभावकों को इसके महत्व के विषय व पोषक आहार देने के लिए आंगनबाड़ियों द्वारा उचित मार्गदर्शन भी प्रदान किया जाएगा।

    महताब आलम, गाजीपुर
    INA NEWS(Initiate News Agency)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.