Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    24 घंटे में गिरफ्तार हुआ सूदखोर अविनाश बाजपेई, पति पत्नी और दोनों बच्चों की आत्महत्या के मामले में पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी

    24 घंटे में गिरफ्तार हुआ सूदखोर अविनाश बाजपेई, पति पत्नी और दोनों बच्चों की आत्महत्या के मामले में पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी 

    शाहजहाँपुर- उत्तरप्रदेश : उत्तर प्रदेश के जनपद शाहजहांपुर में पति पत्नी और दो मासूम बच्चों के आत्महत्या के मामले में पुलिस अधीक्षक डॉ0 एस आनंद की तत्परता के चलते पुलिस टीम को बड़ी कामयाबी मिली है पुलिस की टीम ने आरोपी सूदखोर अविनाश बाजपेई उर्फ आकाश को जनपद शाहजहांपुर के अल्लाहगंज से गिरफ्तार कर लिया है  गिरफ्तार अविनाश बाजपेई  से बेहद कडा़ई से पूछताछ में पुलिस को पता चला  कि सूदखोर अविनाश ने मृतक दवा कारोबारी से ना केवल सूद का लाखों रुपया वसूल लिया था बल्कि उसके मकान की रजिस्ट्री भी करा ली थी। यही नहीं चौंकाने वाली बात यह है कि अपने ही मकान में रह रहे दवा कारोबारी से सूदखोर मकान के किराये का पैसा भी वसूल रहा था। किराया ना देने पर उसे न्यायालय से नोटिस जारी कर धमकी दे रहा था। परिवार इतना त्रस्त और दुखी था की पूरे परिवार समेत  दवा व्यापारी अखिलेश ने आत्महत्या के आत्मघाती कदम को अंजाम दे दिया हालांकि अविनाश बाजपेई से बहुत कुछ उगलवाना बाकी है क्योंकि जिस तरह का घटनाक्रम है वह बेहद संदिग्ध है कोई भी माता पिता अपने बच्चों के साथ इतनी हृदय विदारक घटना को अंजाम नहीं दे सकते यह बात जनपद मे चर्चा का विषय है जो लोगों के गले नहीं उतर रही है पुलिस तफ्तीश में चौंकाने वाले तथ्य सामने आ सकते हैं|

    घटना के अनुसार मामला थाना चौक कोतवाली के कच्चे कटरा मोहल्ले का है का है जहां पुलिस ने कल देर रात आरोपी सूदखोर अविनाश वाजपेई के खिलाफ केस दर्ज करते हुए टीमों के जरिए दबिश दी थी। इसी के चलते थाना अल्लाहगंज इलाके से पुलिस ने सूदखोर अविनाश वाजपेई को गिरफ्तार कर लिया। अभी तक की पुलिस पूछताछ से पता चला है कि सूदखोर अविनाश ने मृतक दवा कारोबारी अखिलेश से ना केवल सूद के लाखों रुपए वसूले थे बल्कि उसने दबाव में लेकर दवा कारोबारी अखिलेश के मकान की रजिस्ट्री भी अपने नाम करा ली थी। यही नहीं मकान की रजिस्ट्री कराने के बाद उसी के मकान पर अखिलेश को किराएदार के रूप में रख उससे हर महीने किराया बसूल रहा था। किराए ना मिलने पर उसे नोटिस जारी कर धमकी दे रहा था। इतनी प्रताड़ना और जबरन कर्ज वसूली के चलते  अखिलेश और उसकी पत्नी मानसिक रूप से बेहद टूट गए थे और इसी के चलते पति पत्नी दोनों ने बच्चों के साथ  आत्महत्या कर ली। वही पुलिस अधीक्षक एस आनंद ने बताया कि आरोपी सूदखोर अविनाश से अभी और पूछताछ की जा रही है। इसके साथ ही इसके नेटवर्क की और जानकारी करने के लिए एक अधिकारी नियुक्त किया गया है ताकि इस पूरे केस का खुलासा करने के साथ परिवार को न्याय दिलाया जा सके। साथ ही पुलिस अधीक्षक एस आनंद ने आम जनता के लिए एक व्हाट्सएप नंबर भी जारी कर दिया है कि अगर जिले में कोई भी सूदखोर किसी को भी परेशान करें तो व्हाट्सएप के द्वारा उनको जानकारी दी जा सकती है जानकारी देने वाले की सूचना को गुप्त रखा जाएगा|

    फ़ैयाज़ उद्दीन, शाहजहाँपुर- उत्तरप्रदेश
    INA NEWS(Initiate News Agency)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.