Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर। प्रयॉरिटी कॉरिडोर में 1 किमी. से ज़्यादा ट्रैक तैयार; आईआईटी से कल्याणपुर तक बिछा दिया मेट्रो ट्रैक

    कानपुर। कानपुर मेट्रो के लगभग 9 किमी. लंबे प्रयॉरिटी कॉरिडोर (आईआईटी से मोतीझील) में 1 किमी. से अधिक दूरी तक मेट्रो ट्रैक तैयार कर दिया गया है। आईआईटी मेट्रो स्टेशन के पहले से शुरू हुआ ट्रैक का काम अब कल्याणपुर मेट्रो स्टेशन तक पहुँच गया है। 11 मई, 2021 को आईआईटी के पास पहला क्रॉसओवर कास्ट कर, प्रयॉरिटी कॉरिडोर की मेनलाइन पर ट्रैक के काम की शुरुआत हुई थी। 

    बता दें कि कानपुर मेट्रो में मेट्रो रेल के 18-18 मीटर के सेग्मेंट जोड़कर कई मीटर लंबी रेल तैयार की जा रही हैं। रेल वेल्डिंग मशीन से मेट्रो रेल के छोटे-छोटे सेगमेंट्स को जोड़कर एक लंबी रेल तैयार की जाती है और फिर इन्हें ट्रैक पर बिछा दिया जाता है।

    मेट्रो रेल और ट्रैक में है क्या अंतर?

    'मेट्रो ट्रैक’ एक पूरा सिस्टम है और ‘रेल’ उसका सिर्फ़ एक हिस्सा है। रेल यानी लोहे की पटरियाँ, जबकि ट्रैक सिस्टम में रेल के साथ-साथ ट्रैक प्लिंथ, रेल शीट, रबर पैड, फ़ास्टनर (क्लैंप) आदि कई और चीज़ें भी शामिल होती हैं।

    ट्रैक बिछाने के काम की गति पर संतुष्टि ज़ाहिर करते हुए यूपी मेट्रो के प्रबंध निदेशक श्री कुमार केशव ने कहा, “‘कानपुर में विभिन्न सिस्टमों के काम अब गति पकड़ रहे हैं। ट्रैक तैयार करने का काम भी तेज़ी से चल रहा है। मेट्रो की मेनलाइन पर ट्रैक बैलस्ट-लेस (Ballast-less) यानी गिट्टी रहित होगा। बैलस्ट-लेस ट्रैक का मेंटनेंस न के बराबर होता है और साथ ही, इसकी स्टैबिलिटी और राइड क्वॉलिटी बेहतर होती है, जिसके फलस्वरूप मेट्रो की यात्रा अधिक सुविधाजनक हो जाती है


    इब्ने हसन ज़ैदी 

    Initiate News Agency(INA), कानपुर 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.