Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    बलिया। पेरोल पर रिहा होने पर जेल परिसर में निकले खुशी के आंसू

    बलिया। खबर उत्तर प्रदेश के बलिया के कारागार  से जहां शासन के निर्देश पर कोरोना संक्रमण को देखते हुए जेल में निरुद्ध 760 कैदियों में से उम्र कैद दहेज हत्या और अन्य अपराधों  में आजीवन कारावास की सज़ा काट रहे बुजुर्गों को, जिसमें 4 महिलाएं और 21 पुरुष शामिल है। जेल से बाहर निकलते ही इनकी आंखें डबडबा अपनों से मिलने की खुशी में आंसू छलक गए ।

    प्रशांत मौर्य (जेल सुपरिटेंडेंट)

    अवसर पर जेल अधीक्षक प्रशांत मौर्य नें बताया कि आप सभी पैरोल के समय को ध्यान में रखते हुए 29 जुलाई तक कोविड-19 का पालन करते हुए वापस आ जाएंगे ।

    विक्रमादित्य ठाकुर (आजीवन कारावास काट रहे बंदी पेरोल पर रिहाई)

    उन्होंने बताया के निरूद्ध 25 कैदियों में कैदियों में सभी वरिष्ठ नागरिक है जिनकी आयु 65 से 75 वर्ष बताई जा रही है।

               अमरदेव खरवार व तेतरी (पेरोल रिहा पति पत्नी)

    जेल से रिहा हो रहे कैदियों के चेहरों पर कहीं मुस्कान तो कहीं अपनों से मिलने की खुशी के आंसू छलकते नजर आए।

    राजेश्वर सिंह (बंदी परिजन)

    इसमें एक बंदी ऐसा देखा जो काफी वृद्धि के साथ उसे आंखों से नजर नहीं आ रहा था एक सिपाही ने उसे किसी तरह गाड़ी को चलाएं।




    एस आसिफ हुसैन ज़ैदी 

    Initiate News Agency(INA), बलिया 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.