Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    सम्भल। लॉकडाउन के उल्लंघन कर रही आम जनता

    सम्भल। पंचायत चुनाव संपन्न होने के बाद पुलिस प्रशासन खाली हो चुका है। शहर में लॉकडाउन लगा है, लेकिन शहर में लोकडाउन की धज्जियां इस तरह उड़ रही हैं। मानो सम्भल से पुलिस प्रशासन नदारद हो गया हो। आम दिनों की तरह भले ही दुकानें बंद हो, लेकिन जनता डटकर आवाजाही कर रही है। सड़को पर लोग दौड़ रहे हैं। यहां तक कि दोपहिया वाहन भी आते जाते आपको दिखाई दे जाएंगे। इतना ही नहीं बैटरी वाली रिक्शा है खूब दौड़ रही हैं। उसमें चार से छह सवारी बैठ रही हैं। 

    मास्क का भी उल्लंघन हो रहा है और कानून की भी धज्जियां उड़ रही हैं। इसके बावजूद भी नगर में पुलिस कहीं दिखाई नहीं दे रही है। इक्का-दुक्का किसी चौराहे पर होमगार्ड नजर आ जाएंगे, लेकिन वह भी अपनी ड्यूटी को अंजाम देने में बेबस नजर आ रहे है। क्योंकि भीड़ इतनी है कि वह भी टोका टाकी करने में अपने आप को असमर्थ महसूस कर रहे है। उत्तर प्रदेश सरकार चाहती है कि कोरोना वायरस की चैन को तोड़ा जाये। इसके लिए सभी प्रयास किये जा रहे है। 

    लेकिन सम्भल में यह कोरोना वायरस की चैन कैसे टूटेगी। यह हालात इस कदर बदतर होते जा रहे हैं। कि यहां पर चैन तोड़ना बहुत मुश्किल बात है। यहां पर संक्रमितों की संख्या भी कम हो। इसके लिए जरूरी है कि यहां पर कोरोना वायरस की गाइडलाइन का पूरा पालन होना चाहिये। हम देख रहे हैं कि यहां पर दिन-ब-दिन किस तरह कोरोना वायरस के उल्लंघन किया जा रहा है। लोग समझ नहीं पा रहे हैं। वह तो अपनी मस्ती में मस्त नजर आ रहे हैं। खासतौर से मुख्य बाजार हो, आर्य समाज मार्ग हो या कोतवाली का क्षेत्र हो यहां पर भारी भीड़ देखी जा सकती है। 

    कुछ दुकानदार ऐसे हैं जो की दुकानें खोलकर के सामान बेच रहे हैं। कभी शटर नीचे उठाते हैं। कभी कभी नीचे गिराते हैं। इतना ही नहीं बैंकों के बाहर भी लंबी लंबी कतारें लगी हैं। इन्हें रोकने वाला कोई नहीं है। अगर सम्भल के हालात यही रहे, तो निश्चित रूप से कहा जा सकता है, कि यहां पर संक्रमितों की संख्या बहुत ज्यादा हो जाएगी और चैन तोड़ना बहुत मुश्किल काम हो जाएगा। इसलिए सम्भल का प्रशासन जागे और वह इस तरह घूम रहे लोगों को रोके। 


    ताकि संक्रमण बढ़ने से रोका जा सके और उत्तर प्रदेश सरकार का सपना और प्रयास की चैन को तोड़ना ही होगा। आम जनता नहीं जागी, तो आप सच मानिए यहां पर कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या बहुत ज्यादा हो जाएगी। सम्भल प्रशासन को सख्ती का रुख अपनाना होगा। ताकि बेवजह सड़कों पर घूम रहे। लोग अपने घरों में कैद हो सके।


    उवैस दानिश

    Initiate News Agency(INA), सम्भल 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.