Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    गया/बिहार।जिले के प्रभारी मंत्री स उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने वर्चुअल मीटिंग के माध्यम से विभिन्न कार्यों के निष्पादन हेतु पदाधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों के साथ की बैठक

    गया/बिहार। जिला पदाधिकारी, गया की अध्यक्षता में कोविड 19 संक्रमण के बचाव एवं सुरक्षा संबंधी विभिन्न कार्यों के निष्पादन हेतु वर्चुअल बैठक का आयोजन किया गया, जिसमे मुख्य रूप से  

    ● टीकाकरण

    ● कोरोना टेस्ट

    ● संस्थागत आइसोलेशन केंद्र में मरीजो की स्थिति

    ● ऑक्सीजन फ्लो मीटर की आवश्यकता

    ● अगर कोई कर्मी स्वास्थ्य कारणों से अवकाश लेते है तो उसे सिविल सर्जन से अग्रसारित कराकर प्रमाण पत्र देने की अनिवार्यता।

    ● ज़िले में ऑक्सीजन की उपलब्धता

    ● सामुदायिक रसोई की समीक्षा

    ● जिला के निजी अस्पतालों में बेड की उपलब्धता। 

    ● 18+ लोगों के लिए कल से टीकाकरण प्रारंभ, तैयारी की समीक्षा

    ● ज़िले के  प्रभारी मंत्री -सह- उद्योग मंत्री, बिहार सरकार  शाहनवाज हुसैन द्वारा वर्चुअल मीटिंग के माध्यम से पदाधिकारियों एवं जन प्रतिनिधियों के साथ बैठक।

    सहित अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर विचार विमर्श किया गया।

    वर्चुअल बैठक में बताया गया कि गया ज़िले के  प्रभारी मंत्री-सह-उद्योग मंत्री, बिहार सरकार  शाहनवाज हुसैन द्वारा वर्चुअल बैठक के  माध्यम से ज़िला पदाधिकारी सहित अन्य पदाधिकारियों के साथ अपराह्न 12 बजे बैठक आयोजित की जाएगी। साथ ही अपराह्न 02 बजे से ज़िले के जनप्रतिनिधियों के साथ वर्चुअल बैठक भी आयोजित की जाएगी। 

    बैठक में निदेश दिया गया कि अगर कोई पदाधिकारी/कर्मी स्वास्थ्य संबंधी कारणों से अवकाश लेते हैं, तो उन्हें सिविल सर्जन से अग्रसारित प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना अनिवार्य होगा। बिना अवकाश स्वीकृत कराए अनुपस्थिति को गंभीरता से लिया जाएगा। 

    बैठक में बताया गया कि ज़िले में ऑक्सीजन की कोई कमी नही है, ऑक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता है। एएनएमएमसीएच सहित ज़िले के अन्य अस्पतालों में ऑक्सीजन की मांग में कमी आयी है। कार्यपालक अभियंता, विधुत को निदेश दिया गया कि वे एएनएमएमसीएच अस्पताल में निर्वाध विधुत व्यवस्था बहाल करें। 

    बैठक में ऑक्सीजन फ्लो मीटर की आवश्यकता बताई गई, ताकि आने वाले समय मे गंभीर मरीज़ों के लिए और अधिक व्यवस्था की जा सके। 

    बैठक में बताया गया कि ज़िले के डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर में मरीजो की और अच्छी तरह देख भाल हेतु वार्डबॉय की आवश्यकता है। जिला पदाधिकारी द्वारा सिविल सर्जन/डीपीएम से अनुरोध किया गया। प्रभारी पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि डीसीएससी अम्बेडकर छात्रावास, भुसुंडा में 19 मरीज, गया संग्रहालय में 30 मरीज, नीमचक बथानी में 07 मरीज तथा एएनएम ट्रेनिंग स्कूल, टिकारी में 08 मरीज भर्ती हैं। 

    बैठक में प्रभारी पदाधिकारी आपदा शाखा द्वारा बताया गया कि गया ज़िले में 22 स्थानों पर सामुदायिक रसोई चलाये जा रहे हैं। शहरी क्षेत्रों में 03 स्थानों पर तथा प्रखण्डों में 19 स्थानों पर सामुदायिक रसोई की व्यवस्था की गई है, जिसके माध्यम से निर्धन, निराश्रित एवं ज़रूरतमंद लोग भोजन कर रहे हैं। बताया गया कि कुल 2,196 व्यक्तियों द्वारा भोजन किया गया। कल से शेष प्रखंडों में भी सामुदायिक रसोई के माध्यम से भोजन कि व्यवस्था की जाएगी। 

    बैठक में निदेशक, डीआरडीए द्वारा बताया गया कि ज़िले के निजी अस्पतालों में 177 बेड में से 23 बेड खाली हैं, जिनमे मुख्य रूप से अर्श अस्पताल में 01 बेड, श्रीराम अस्पताल में 01 बेड, श्रीनारायण अस्पताल में 03 बेड, असलम मानो अस्पताल में 04 बेड, न्यू डीएसआर अस्पताल में 05 बेड, ओम साई नर्सिंग होम में 03 बेड, रेलवे अस्पताल में 02 बेड, कृष्णा अस्पताल में 02 बेड, प्रकाश मल्टीस्पेशिलिटी में 02 बेड खाली हैं। 

    बैठक में सिविल सर्जन द्वारा बताया गया कि कल से 18 वर्ष से ऊपर आयु वर्ग के व्यक्तियों का कोविड 19 टीकाकरण प्रारंभ होगा। टीकाकरण के निबंधन हेतु आरटीपीएस काउंटर पर या कोविन पोर्टल/आरोग्य सेतु एप्प के माध्यम से पंजीकरण होगा। आज तक जिनका पंजीकरण हो गया है, कल उन्ही व्यक्तियों का टीकाकरण होगा। बताया गया कि टीकाकरण सत्र स्थल पर पंजीकरण नहीं होगा। टीकाकरण लेने के एक दिन पूर्व पंजीकरण कराना अनिवार्य होगा ताकि टीकाकरण सत्र स्थल का निर्धारण किया जा सके।

    वर्चुअल बैठक में बताया गया कि स्वास्थ्य विभाग, बिहार सरकार द्वारा कोविड 19 की जांच एचआरसीटी thorax (हाई रेसोलुशन सीटी स्कैन) पद्धति से करने हेतु अधिकतम शुल्क निर्धारित किया गया है, जो इस प्रकार है-

    1. सिंगल स्लाइस सीटी मशीन - ₹2,500

    2. मल्टी स्लाइस सीटी मशीन - ₹3,000

    उपरोक्त शुल्क जीएसटी, पीपीई किट तथा सैनिटाइजेशन सहित निर्धारित की गयी है। निजी जांच केंद्रों द्वारा उपरोक्त अधिकतम दर के अधीन ही मरीजो से शुल्क लेने का निदेश दिया गया है। इससे अधिक शुल्क लेने पर बिहार एपिडेमिक डीजिजेज कोविड 19 रेगुलेशन, 2021 के अंतर्गत वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

    वर्चुअल बैठक में अपर समाहर्त्ता, निदेशक, डीआरडीए, सिविल सर्जन, अधीक्षक/प्राचार्य, एएनएमएमसीएच, विशेष कार्यH पदाधिकारी, जिला जन संपर्क पदाधिकारी, वरीय उप समाहर्त्तागण, डीपीएम स्वास्थ्य, डीपीओ आईसीडीएस सहित अन्य पदाधिकारी एवं चिकित्सक उपस्थित थे।


    प्रमोद कुमार यादव

    Initiate News Agency(INA), गया 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.