Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    अयोध्या बिना रजिस्टेशन के चल रहे समर्पण हास्पिटल, मुकदमा दर्ज, कर दिया गया सील, रेमेडिसिविर इंजेक्शन व आक्सीजन की कालाबाजारी का आरोप

    अयोध्या। अयोध्या जनपद में आक्सीजन व रेमेडिसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने के आरोपी समर्पण हास्पिटल के खिलाफ  एफआईआर दर्ज होने के बाद स्वास्थ्य विभाग व पुलिस की टीम ने इसे सील कर दिया। मिलिट्री इंटलीजेंस के इनपुट पर  प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की टीम ने यहां छापा मारा था।

    जांच में हास्पिटल का रजिस्टेशन वैध नहीं पाया गया। जिसके बाद हास्पिटल की संचालिका के खिलाफ कोतवाली नगर में एफआईआर दर्ज हुई थी। मिलिट्री इंटलीजेंस ने प्रशासन को सूचना दी थी कि देवकाली स्थित समर्पण हास्पिटल में आक्सीजन व रेमेडिसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी की जा रही है। इंटलीजेंस ने इसके सम्बंध में प्रशासन को काफी सबूत भी सौंपे थे। जिसके बाद प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग व मिलिट्री इंटलीजेंस की संयुक्त टीम ने अस्पताल में छापा मारा।

    जांच के बाद एडिशनल सीएमओं की तहरीर में कोतवाली नगर में धारा 420, 467, 468, 471, 269, महामारी अधिनियम 3 व इंडियन मेडिकल एक्ट 15 (3) के तहत हास्पिटल की संचालिक साक्षी त्रिपाठी के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत हुआ। तहरीर में एडिशनल सीएमओं ने लिखा है कि छापेमारी के दौरान अस्पताल की संचालिका डॉ साक्षी त्रिपाठी मौके पर मौजूद थी। उससे मौके पर डाक्टर को बुलाने के लिए कहा गया।लेकिन वह बुला नहीं सकी। वर्तमान हास्पिटल के पंजीकरण के लिए पोर्टल पर 29 अप्रैल को आवेदन प्रस्तुत है।लेकिन अभी तक हास्पिटल का पंजीकरण नहीं हो सका है। अस्पताल की संचालिका डॉ साक्षी त्रिपाठी फरार बताए जा रही है।

    हास्पिटल को सील करने के दौरान एडिशनल सीएमओं ने बताया कि समर्पण हास्पिटल के खिलाफ कुछ शिकायतें हाईलेवल पर गयी थी। इस शिकायतों के आधार पर कोतवाली नगर व स्वास्थ्य विभाग के नोडल अधिकारी ने  छापेमारी की थी। जिसकी वीडियोग्राफी विवेचक के पास सुरक्षित है। इनका पंजीकरण नहीं हुआ था।मेन शिकायत आक्सीजन व इंजेक्शन के नाम पर अधिक पैसा लेने की थी जिस कारण हास्पिटल को सीज किया गया।

    जैसाकि देखा जा है कि एक तरफ कोरोना महामारी से लोगो को जान बचाना मुस्किल लग रहा है। वही बैजवार लोग अपनी आदत से बाज नही आ रहे है। परेशान असहाय पीड़ित के जेब पर षड्यंत्र कारी डाका  डाल रहे है।


    देव बक्श वर्मा 

    Initiate News Agency(INA), अयोध्या 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.