Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    घर-घर गिलोय का काढ़ा पीने की नसीहत देकर गिलोय की बेल उगाई

    निकटवर्ती भाटीप गांव में कोरोना जैसी वैश्विक महामारी की द्वितीय लहर भी रोकथाम के लिए कोरोना योद्धा के रूप में कार्य करने वाले शिक्षक राजेंद्र कुमार कड़वासरा वरिष्ठ अध्यापक राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय भाटीप ने एक अभियान चलाकर घर घर गिलोय की बेल और तुलसी का पौधा लगाने की पहल की।

    गिलोय का काढ़ा बनाकर पीने से रोग प्रतिरोधक क्षमता में बहुत अधिक इजाफा होता है इसके साथ साथ पुरानी खांसी पुराना बुखार सिर दर्द बदन दर्द आदि के लिए भी गिलोय का काढा रामबाण औषधि की तरह कार्य करता है कोरोना महामारी समाप्त होने के बाद में भी घर में गिलोय की बेल विकसित होने पर ग्रामीण इसके औषधीय गुणों की जानकारी के अनुसार कई बीमारियों को दूर करने में  इसका उपयोग कर सकेंगे।

    वर्तमान में कड़वासरा ग्राम पंचायत में बाहरी राज्यों से आने वाले प्रवासियों को होम क्वारंटाइन करने का कार्य करने के साथ-साथ कोरोनावायरस के संक्रमण से बचाव के उपाय बताना तथा लोगों को जन जागृत करने का कार्य कर रहे हैं। 


    अरविन्द सुथार

    Initiate News Agency(INA)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.