Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    डॉ.अनिल राज की गिरफ्तारी को लेकर समाजसेवी संजीव गुप्ता भूख हड़ताल पर बैठे

    डॉ.अनिल राज की गिरफ्तारी को लेकर समाजसेवी संजीव गुप्ता भूख हड़ताल पर बैठे

    जिद पर अड़े संजीव ने कहा भले प्राण चले जाएं भूख हड़ताल से तब तक नहीं हटेंगे जब तक भ्रष्टाचारी जेल नहीं जाएगा

    शाहजहाँपुर- उत्तरप्रदेश : यूपी के जनपद शाहजहाँपुर के मेडिकल कॉलेज में तैनात फरार भ्रष्टाचारी डॉ0 अनिल राज को गिरफ्तार किए जाने की मांग अब जोर पकड़ने लगी है 15 दिन से अधिक बीत जाने के बाद भी शाहजहांपुर की पुलिस को मुंह चिढ़ाते हुए डॉ0 अनिल राज फरार चल रहा है जिसके चलते शाहजहांपुर की जनता में बेहद आक्रोशित है वहीं पुलिस की नाकामी से त्रस्त होकर सामाजिक संगठन जनता की आवाज़ के संस्थापक संजीव गुप्ता ने डॉ0 अनिल राज की गिरफ्तारी को लेकर 18 मई 2021 को जिलाधिकारी द्वारा महामहिम राज्यपाल को ज्ञापन भेजा था मगर अभी तक डॉक्टर अनिल राज की गिरफ्तारी नहीं हुई। शाहजहांपुर के विभिन्न सम्मानित समाचार पत्रों में डॉक्टर अनिल राज के काले कारनामों को उजागर किया गया प्रशासन की नाकामी से त्रस्त होकर सामाजिक संगठन जनता की आवाज के संस्थापक संजीव गुप्ता ने रामलीला मैदान खिरनी बाग में भूख हड़ताल शुरू कर दी है उनका कहना है कि भले ही प्राण चले जाए लेकिन वह भूख हड़ताल से तब तक नहीं हटेंगे जब तक भ्रष्टाचारी डॉक्टर की गिरफ्तारी ना हो जाए |

    बता दें कि डॉ0 अनिल राज  अपने ही मेडिकल स्टोर से दवाइयों को बड़े पैमाने पर ब्लैक कर रहा था। जिसकी जांच गोपनीय रूप से जिलाधिकारी द्वारा कराई गई जो कि सत्य पाई गई जिसके बाद डॉक्टर फरार हो गया यह भ्रष्टाचारी डॉक्टर कई वर्षों से मरीजों के साथ खिलवाड़ कर रहा था|

    ग्यारह सौ रुपये वाला इंजेक्शन ₹7000 में बेच रहा था और यह खेल ना जाने कब से चल रहा था क्योंकि यह डॉक्टर वर्षों से शाहजहांपुर में अपने राजनैतिक रसूख और काले धन के चलते जमा हुआ है उसके काले कारनामे खुलने के बाद पुलिस द्वारा दो मुकदमे दर्ज कर दिए गए हैं लेकिन गिरफ्तारी के नाम पर खानापूर्ति हो रही है सूत्रों की माने तो भाजपा सरकार में डॉक्टर अनिल राज का कोई बेहद करीबी रिश्तेदार किसी बड़े ओहदे पर है डॉ0 अनिल राज प्रकरण को लेकर जहां शाहजहांपुर पुलिस और प्रशासन की थुक्का फजीहत हो रही है वही योगी सरकार में भ्रष्टाचारी डॉक्टर की गिरफ्तारी ना होने पर जनमानस का सरकार पर से विश्वास भी डगमगाने लगा है चर्चाओं का बाजार गर्म है डॉ0 अनिल राज ने अपने पैसों के दम पर सब कुछ मैनेज कर रखा है जिसके चलते वह गिरफ्तारी से बचा हुआ है अब देखना यह है कि शासन-प्रशासन अपने ऊपर इतना बड़ा इल्जाम लेता है या भ्रष्टाचारी डॉक्टर को गिरफ्तार कर जेल भेजता है।

    फ़ैयाज़ उद्दीन, शाहजहाँपुर- उत्तरप्रदेश
    INA NEWS(Initiate News Agency)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.