Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    सम्भल।काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग को और अधिक प्रभावी करते हुए टेस्टिंग कार्य बढ़ाया जाए - मण्डलायुक्त

    सम्भल। जनपद संभल के नोडल अधिकारी मुरादाबाद मंडल के मण्डलायुक्त अनंजेय कुमार सिंह ने जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक और चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश दिए कि कोरोना संक्रमण से बचाव और उपचार के लिए काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग को और अधिक प्रभावी करते हुए टेस्टिंग कार्य बढ़ाया जाए। किसी भी मरीज को दवाई, आक्सीजन, बेड तथा एम्बुलेंस की कमी न होने पाए। 

    प्रत्येक अस्पताल में सभी उपकरण क्रियाशील स्थिति में रहें। उन्होंने कहा कि बड़े निर्माण कार्यों पर संक्रमित मरीजों के लिए हेल्प कोविड डेस्क और पांच बेड का आईसोलेशन केन्द्र बनाये जाए। उन्होंने कहा कि जनपद में कम्युनिटी किचन को सुचारु रूप से संचालित किया जाए, जिससे प्रत्येक व्यक्ति को भोजन उपलब्ध हो सके। उन्होंने कहा कि कोरोना के प्रति लोगों को जागरूक किया जाए और माॅस्क लगाने के लिए निरन्तर प्रेरित किया जाए। जिस व्यक्ति को जो जिम्मेदारी सौंपी जाए, वह उसका भली प्रकार से निर्वहन करे, तो ही संक्रमण की चेन को तोड़ा जा सकता है। 

    उन्होंने कहा कि इण्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कण्ट्रोल सेण्टर (आई0सी0सी0सी0) को अधिक से अधिक प्रभावी किया जाए। ग्रामीण क्षेत्रों में आवश्यकता पडने पर तत्काल एम्बुलेंस मुहैया करायी जाए। निजी चिकित्सालय, लैब और एम्बुलेंस नियमों का उल्लंघन करने पर उनके विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की जाए। किसी भी मरीज को बेड और चिकित्सीय सुविधा में कमी न होने पाए। कोई भी मरीज दवाई, बेड और आक्सीजन के अभाव में इधर-उधर न भटके। उन्होंने कहा कि कण्टेनमेण्ट जोन के प्राविधानों का सख्ती से पालन सुनिश्चित कराया जाए। 

    उन्होंने कहा कि पुलिस अधिकारी कोरोना कफ्र्यू का उल्लघंन करने वालों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जाए। बिना कारण सड़कों पर घूमने वालों को भी चिन्हित कर दण्ड़ित किया जाए। मण्डलायुक्त ने अधिकारियों को वैक्सीनेशन की पहले से प्लानिंग करने के निर्देश दिए, जिससे सभी लोगों को समय से वैक्सीनेशन किया जा सके और वेस्टेज भी न हो। उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन सेण्टर पर प्रतीक्षा क्षेत्र और आब्जर्विंग क्षेत्र अलग-अलग होने चाहिए। बच्चों, महिलाओं और गम्भीर रूप से बीमार व्यक्तियों के लिए अलग से नाॅन कोविड अस्पताल डेडिकेट किया जाए। इस कार्य में किसी भी स्तर पर लापरवाही न बरती जाए। 

    उन्होंने कहा कि कोरोना के प्रति लोगों को जागरूक किया जाए और अफवाह फैलाने वालों पर पैनी निगाह रखी जाए। ऐसे लोगों को चिन्हित कर उनके विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाए। उन्होंने कहा कि जनपद में मेडिकल किट का वितरण शत-प्रतिशत कराया जाना सुनिश्चित किया जाए। एक भी संदिग्ध और लक्षणयुक्त व्यक्ति मेडिकल किट से वंचित न रहे। उन्होंने कहा कि निगरानी समितियों के माध्यम से लक्षणयुक्त व्यक्ति को तत्काल मेडिकल किट मुहैया कराते हुए उनका नाम, फोन नम्बर, पता आदि की सूची तैयार कर तत्काल इण्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कण्ट्रोल सेण्टर को उपलब्ध करायी जाए। 

    अनंजेय कुमार सिंह ने कहा कि संदिग्ध और लक्षणयुक्त व्यक्ति का रैपिड रिस्पाॅन्स टीम के माध्यम से जल्द से जल्द जांच कराई जाए। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में मरीजों, लक्षणयुक्त व्यक्तियो की एक सूची जनप्रतिनिधियों को भी उपलब्ध करायी जाए। जनपद में हो रहे सफाई, सैनिटाइजेशन और फाॅगिंग अभियान के अन्तर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में होने वाले कार्यों की सूची भी जनप्रतिनिधियों को दी जाए। जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक और मुख्य चिकित्साधिकारी कोविड से सम्बन्धित मामलों और इस सम्बन्ध में की गई कार्यवाही की नियमित रूप से समीक्षा करें।  

    उन्होंने कहा कि कोरोना और बरसात के मौसम में संक्रमण को रोकने के लिए सैनिटाइजेशन, साफ-सफाई, फाॅगिग आदि की निरन्तर कार्यवाही की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि गांव के हर घर के प्रत्येक व्यक्ति की जांच की जाए, जिससे कोरोना पर नियंत्रण पाया जा सके। 

    वर्चुअल मीटिंग के माध्यम से मंडलायुक्त ने कहा कि निगरानी समिति गांव में सक्रिय रहें उन्होंने कहा कि ग्राम प्रधानों को अपने अपने गांव में साफ सफाई का विशेष ध्यान रखा जाए जिससे कोरोना के साथ-साथ अन्य संक्रमण लोगों को भी बढ़ने से रोका जा सके उन्होंने निगरानी समितियों को विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन एवं सचेतता ही कोरोना को पराजित कर सकता है उन्होंने कहा कि कोरोना को देखते हुए अपनी तैयारी को तेज करना होगा उन्होंने कहा कि आगे की परिस्थितियों को ध्यान में रखकर निगरानी समितियों ग्राम प्रधानों को विशेष सर्तकता बरतनी होगी। 

    उन्होंने यह भी कहा कि मेडिकल एक्सपर्ट के अनुसार ये वायरस हवा में भी फैल रहा है इसलिए गांव के लोगों को मास्क लगाने या साफा से अपना मुंह ढकने के लिए समझाना होगा निगरानी समितियों को गांव के लोगों को कोरोना को लेकर जागरूकता बढ़ानी होगी उनके समय-समय पर हाथ धोने पर भी ध्यान देना होगा उन्होंने गांव में वॉलिंटियर बनाने यूथ को जागरूक करने प्रधानों के द्वारा मनरेगा के कार्यों को गति के साथ चलाने एवं गांव में अधिक से अधिक पौधारोपण खेल मैदान पर भी चर्चा की और उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि विकास कार्यों में गति लाई जाए निर्माण कार्य को भी समय से पूर्ण किया जाए।

    बैठक में जिलाधिकारी संजीव रंजन,  पुलिस अधीक्षक चक्रेश मिश्र, मुख्य विकास अधिकारी उमेश कुमार त्यागी, अपर जिलाधिकारी कमलेश कुमार अवस्थी, अपर पुलिस अधीक्षक आलोक जयसवाल, सभी उपजिलाधिकारी संबंधित अधिकारी सहित सभी चिकित्सा अधिकारी और वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे।


    Initiate News Agency(INA), सम्भल

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.