Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    माधौगंज/हरदोई। अधिकारियों की मिलिभगति के चलते बिना इंटरलॉकिंग कराए डकार गए एक लाख लाखों रुपए

    माधौगंज/हरदोई। प्रदेश सरकार जिनके कन्धों पर गांव के सर्वांगीण विकास कराने की जिम्मेदारी डालती है।विकास खण्ड की ग्राम पंचायत पिपरांवा में एक ऐसा मामले का खुलासा हुआ है। जहां इंटरलॉकिंग का काम नही कराया गया। ग्राम विकास अधिकारी ने आपसी सांठगांठ करके कागजी खानापूरी कर 122400 रुपए 26 मार्च 2021 को निकाल लिए। 

    भ्रष्टाचार की भनक ग्रामीणों को हुई तो रामप्रकाश ने शिकायत कर मामले की जांच कराकर भृष्टाचार का आरोप लगाया।अभी कोरम पूरा नही हो पाया है। जिसके कारण सपथ ग्रहण नही हो पाया है। इस बीच शनिवार को ट्रैक्टर-ट्राली से इंटरलाकिंग की ईंटें गांव में गिरते ही ग्रामीणों ने सवाल करने शुरू कर दिए। नवनिर्वाचित प्रधान सहित ग्रामीण हैरत में पड़ गए। ग्रामीणों का कहना है कि अभी प्रधान व ग्राम सदस्यों का सपथ ग्रहण नही हो पाया है और इंटरलाकिंग ईंटें आनी शुरू हो गई हैं। 

    गांव की प्रधान ने बताया पूरा किस्सा, ग्रामीणों ने की शिकायत

    नवनिर्वाचित प्रधान नन्ही देवी ने बताया कि पिछले पांच वर्षों तक गांव की पब्लिक विकास की राह ताकती रही। पर जिम्मेदारों की मिलीभगति के चलते कागजों पर विकास कार्य होते रहे। शिकायतों के बावजूद जमकर धांधली होती रही। योजना यह थी कि पंचायत चुनाव के बाद विकास कार्यों में हुई धांधली पर पर्दा पड़ जाएगा। पर बदले आरक्षण ने उनके मंसूबों पर पानी फेर दिया। ग्रामीणों ने जनसुनवाई माध्यम से शिकायत कर अन्य विकास कार्यो में हुई धांधली की जांच कराने की मांग की है। जांच की जाए तो कई गांवों के विकास कार्यों में हुई धांधली की खुल सकती है कलई

    क्षेत्र के लोगों का कहना है कि बारीकी से जांच कराई जाए तो कई गांवों के विकास कार्यों में हुई धांधली की कलई खुल सकती है। जानकारों का मानना है कि पंचायत चुनाव के पूर्व ग्राम पंचायत खातों में पड़ी धनराशि को किन कार्यो के लिए निकाला गया है। विकास कार्यो के चलाए गए बाउचर के हिसाब से गांवों में टीम भेजकर स्थलीय निरीक्षण कराया जाए तो सब सामने आ जाएगा।


    राम किशोर 

    Initiate News Agency(INA), माधौगंज /हरदोई 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.