Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    सिंचाई विभाग की लापरवाही का खामियाजा भुगत रहे अन्नदाता, फसलें बर्बाद होने की कगार पर

    सिंचाई विभाग की लापरवाही का खामियाजा भुगत रहे अन्नदाता, फसलें बर्बाद होने की कगार पर

    कन्नौज : जिले में सिंचाई विभाग की लापरवाही से अन्नदाता बर्बाद होने की कगार पर पहुंच गया है। माइनर में पानी न छोड़ने से हजारों किसानों की फसल सूखने के कगार पर पहुंच गयी हैं। फसल सूखते देख मायूस किसानों को अब सरकार से ही मदद की आस है।

    कन्नौज के उमर्दा क्षेत्र में किसान गेंहू की कटाई के बाद उर्द, मूंग, मूंगफली और मक्का आदि की फसल करते हैं। इन फसलों में पानी की ज्यादा जरूरत पड़ती है। जिसका इस इलाके में सबसे अच्छा साधन तिर्वा माइनर है। इसी से किसान फसलों की सिंचाई कर उसे तैयार करते हैं, लेकिन इस बार तिर्वा माइनर में कई महीनों से पानी नहीं छोड़ा गया।

    जिससे किसानों की उम्मीद भी अब सूखने लगी है। किसानों ने किसी तरह गेहूं यह फसलें बोई थी। परेशान किसानों का कहना है की डीजल 80 और पचासी रुपए लीटर मिल रहा है। ऐसे में गरीब किसान सिंचाई नही कर पा रहे हैं।

    किसानों का कहना है कि जल्द से जल्द तिर्वा माइनर में पानी नहीं छोड़ा गया तो वह तहसील स्तर पर पहुंच कर उच्चाधिकारियों को अवगत कराएंगे। इमलिया, घना पुरवा, कठेला, जमुनियापुर, नई बस्ती कलसान, अनंतपुर, गुंदारा, गहरा, पूराराय, इंदरगढ़, सहियापुर, बिसैने पुरवा सहित सैकड़ों गांवों की फसलें सूखने के कगार पर हैं|

    रईस खान
    आईएनए न्यूज़ एजेंसी, कन्नौज, उत्तर प्रदेश

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.