Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    पीएम केयर्स फंड से सम्भल को मिले वेंटीलेटर खराब

    पीएम केयर्स फंड से सम्भल को मिले वेंटीलेटर खराब

    सम्भल-उत्तर प्रदेश : कोरोना की दूसरी लहर में हालात बिगड़े तो वेंटिलेटर की जरूरत पड़ी है। पीएम केयर्स फंड से मंगाए गए वेंटीलेटर को जब चलाकर देखा, तो वह नहीं चले। सम्भल में एल-2 अस्पतालो को पांच-पांच वेंटीलेटर दिए गये थे। मगर उन वेंटिलेटर ने काम नहीं किया।

    एक साल पहले उत्तर प्रदेश सरकार ने पीएम केयर फंड से वेंटिलेटर खरीदकर 20 वेंटिलेटर जिला अस्पतालों को दिए थे। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के प्रकोप को देखते हुए सम्भल में दो निजी अस्पतालों हसीना बेगम अस्पताल व सिल्वेन्ज़ा अस्पताल को एल-2 हॉस्पिटल घोषित किया गया। जब इन्हें जिला अस्पताल द्वारा पांच-पांच वेंटिलेटर दिए गए, तो इन वेंटीलेटरो को निजी अस्पतालों में चलाकर देखा गया, तो वह खराब कंडीशन में मिले। वह वेंटिलेटर चले ही नहीं।

    मनोज कुमार (नोडल अधिकारी)

    नोडल अधिकारी डॉ मनोज कुमार ने बताया कि जिला अस्पताल में 24 वेंटीलेटर थे। जिसमें से चार वेंटीलेटर विभाग के थे। 20 वेंटिलेटर पीएम केयर्स फंड से मिले थे। जिसमें से चार वेंटिलेटर नरौली एल टू हॉस्पिटल को दिए गये। पांच वेंटिलेटर मुरादाबाद जिला हॉस्पिटल को दिए गये।

    जो लगातार काम कर रहे है। उसके बाद हमने पांच वेंटिलेटर हसीना बेगम हॉस्पिटल व पांच वेंटीलेटर सिल्वेंज़ा हॉस्पिटल को दिए थे। जो वर्किंग कंडीशन में इंस्टॉल किए जा रहे हैं। उन्हें आज इंजीनियर देखने आ रहे हैं, जो जल्द ही काम करने लगेंगे। पांच वेंटिलेटर जिला अस्पताल में अब भी वर्किंग कंडीशन में उपलब्ध है।

    उवैश दानिश
    आईएनए न्यूज़ एजेंसी, सम्भल-उत्तर प्रदेश 

    बाइट - मनोज कुमार (नोडल अधिकारी)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.