Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    देवबंद: कोतवाली के बाहर खडी भीड को खदेडती पुलिस

    देवबंद: शुक्रवार को दो पक्षों के बीच एक बीडीसी सदस्य को लेकर कहासुनी के बाद मारपीट हो गई। जिसमें एक व्यक्ति घायल हो गया। कार्रवाई कराने को लेकर दोनों पक्ष कोतवाली पहुंचे तो यहां भी उनके बीच टकराव की स्थिति पैदा हो गई। जिसको देखते हुए आरआरएफ के जवानों के साथ ही कई थानों की फोर्स को मौके पर बुलाना पड़ा। जिसके बाद ही स्थिति नियंत्रण हो पाई। इस मामले में दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर आरोप लगा पुलिस को तहरीर दी है।

    शुक्रवार को गुनारसी गांव निवासी नवनिर्वाचित बीडीसी सदस्य शौकीन अंसारी ने पुलिस को दी तहरीर में आरोप लगाया की पूर्व मंत्री स्वर्गीय राजेंद्र राणा के पुत्र व सपा नेता कार्तिकेय राणा समेत पांच नामजद व 15 अज्ञात लोग दोपहर के समय घर पर आए तथा हथियारों के बल पर उसका अपहरण करके भायला रोड स्थित एक धर्मकांटे पर ले गए। इस दौरान उसके साथ लाठी डंडों से मारपीट की गई तथा धारदार हथियार से हमला भी किया गया। जिसमें वह घायल हो गया। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने उसे उक्त लोगों के चंगुल से छुडाया। 

    वहीं दूसरे पक्ष के मोहल्ला लहसवाड़ा निवासी तंजीम ने तहरीर में बताया की दोपहर करीब एक बजे वह भायला रोड पर स्थित अपनी आढ़त पर बैठा था। इसी दौरान वहां से गुजर रहा शौकीन बाइक स्लीप होने के चलते जमीन पर गिरकर घायल हो गया। जिसे चिकित्सक के यहां उपचार के लिए ले जाया गया। आरोप है की इस दौरान पांच नामजद और करीब 25 अज्ञात लोग हथियारों से लैस होकर वहां पहुंचे और शौकीन को जबरदस्ती अपने साथ ले जाने लगे। रोकने पर फायरिंग की गई। जिसमें वह बाल बाल बच गया। 

    तंजीम का आरोप यह भी है की हमलावर आढ़त के गल्ले में रखे करीब 27 हजार रुपये की नकदी भी लूटकर ले गए। वहीं घटना के बाद जब दोनों पक्ष कार्रवाई कराने को लेकर कोतवाली पहुंचे तो वहां भी उनके बीच टकराव की स्थिति पैदा हो गई। जिसकी वजह से कोतवाली के बाहर अफरा तफरी का माहौल हो गया। स्थिति बिगड़ती देख अधिकारियों को थाना सहित कई थानों की पुलिस फोर्स के साथ ही आरआरएफ के जवानों को मौके बुलाना पड़ा। 

    जिसके बाद ही स्थिति नियंत्रण हो पाई। इंस्पेक्टर का कहना है की दोनों पक्षों की तहरीर मिल गई है। मामले की जांच आरंभ कर दी गई है। घायल बीडीसी शौकीन को उपचार के लिए सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहीं कार्तिकेय राणा का कहना है की सत्ताधारी पार्टी के इशारे पर उन्हें बदमान करने की साजिश रची गई है। वो हार रहे हैं इसी के चलते मामले को सांप्रदायिक बनाना चाह रहे हैं। लेकिन उनकी साजिश कामयाब नहीं होने दी जाएगी।


    शिब्ली इक़बाल 

    Initiate News Agency(INA), देवबंद 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.