Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    शाहजहांपुर। हर चार घंटे में बदल दें सेनेटरी पैड:रुचिता वर्मा

    शाहजहांपुर। कु. रुचिता वर्मा  ने बताया कि हर चार घंटे में बदल दें सेनेटरी पैड: विश्व मासिक धर्म स्वच्छता दिवस पर सेनेटरी पैड का हुआ वितरण इस वर्ष की थीम-मासिक धर्म स्वास्थ्य और स्वच्छता में कार्रवाई और निवेश बढ़ाने की जरूरत मासिक धर्म स्वास्थ्य और स्वच्छता स्त्री जीवन और खुशहाल परिवार का एक महत्वपूर्ण अंग है । इसी आधार पर इस वर्ष के विश्व मासिक धर्म स्वच्छता दिवस की थीम मासिक धर्म स्वास्थ्य और स्वच्छता में कार्रवाई व निवेश बढ़ाने की जरुरत रखी गयी है। इसको सफल बनाने के लिए जन सामुदायिक को जागरूक करना बहुत ही आवशयक है जिसमें महिलाओं के साथ साथ बेटियों को मासिक धर्म स्वास्थ्य और निजी स्वच्छता जैसे मुद्दों पर खुलकर बोलने के लिए प्रेरित किया जाना ही थीम की सफलता होगी।

    कु.रुचिता वर्मा जिला समन्वयक राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम ने बताया कि महिलाओं और किशोरियों को माहवारी के दौरान कई तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। उनको इस तरह की दिक्कतों का सामना न करना पड़े इसलिए हर वर्ष 28 मई को विश्व मासिक धर्म स्वच्छता दिवस मनाया जाता है। ताकि उन्हें झिझक छोड़ने और इस बारे में खुलकर बात रखने का मौका मिल सके। इस दिवस का उद्देश्य ही समाज में फैली मासिक धर्म संबंधी गलत अवधारणाओं को दूर करना और महिलाओं और किशोरियों को माहवारी प्रबंधन संबंधी सही जानकारी देना है। लगभग हर महिला या लड़की को प्रत्येक 28 दिनों के बाद पांच दिनों तक  रहने वाले मासिक चक्र के दौरान निजी स्वच्छता पर विशेष ध्यान देने के लिए प्रेरित और जागरूक करना है ।

    कु.वर्मा ने कहा कि कोविड काल में लॉकडाउन के दौरान पंजीकृत किशोरियों तक सेनेटरी पैड पहुँचने का कार्य आशाओं ,आर के एस के काउन्सलर और पियर एजुकेटर के द्वारा किया जा रहा है । साथ ही सभी को मासिक धर्म के दौरान निजी स्वच्छता अपनाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। इस्तेमाल किये गए पैड को कागज में ठीक से लपेट कर डिस्पोज करें।मासिक धर्म के दौरान जननांगों को नियमित तौर पर धुलें ।  बहुत सी लड़कियों और महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान पेट में दर्द और कमजोरी की शिकायत होती है । ऐसा अवस्था में ज्यादा दिक्कत होने पर चिकित्सकीय परामर्श लें बिना चिकित्सक की सलाह के कोई दवा न खाएं। इन व्यवहारों को अपनाएं ,गंदे कपड़े का प्रयोग न करें ,पैड का 4 घंटे ज्यादा समय तक इस्तेमाल न करें ,शर्म और हिचक छोड़ कर पैड खरीदें व मंगाएं और इस्तेमाल करें ,निजी स्वच्छता का विशेष ध्यान रखें ।स्वास्थ्य केंद्रों या आशा कार्यकर्ताओं की मदद से निःशुल्क सेनेटरी पैड प्राप्त करें।


    फ़ैयाज़ उद्दीन 

    Initiate News Agency(INA), शाहजहाँपुर 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.