Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कोरोना संकट में प्रदेश के मुख्यमंत्री, प्रभारी मंत्री नांदगावं झांकने तक नहीं आ रहे हैं इसकी फिक्र करे महापौर - शिव वर्मा

    कोरोना संकट में प्रदेश के मुख्यमंत्री, प्रभारी मंत्री नांदगावं झांकने तक नहीं आ रहे हैं इसकी फिक्र करे महापौर - शिव वर्मा

    राजनांदगांव : जिला भाजपा पिछड़ा वर्ग के जिला अध्यक्ष पार्षद दल के प्रवक्ता शिव वर्मा ने निगम के महापौर के द्वारा दिए गए बयान पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि पहले अपने मुख्यमंत्री प्रभारी मंत्री से पूछ ले कि आखिर राजनांदगांव से इतनी एलर्जी क्यों है। उन्होंने कहा कि इस प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री राजनांदगांव विधानसभा के विधायक हर दिलों पर राज करने वाले इस प्रदेश के सबसे लोकप्रिय मुख्यमंत्री जिन्होंने छत्तीसगढ़ राज्य को देश में विकसित राज्य की श्रेणी में खड़ा किया। प्रदेश में सड़कों के जाल, एम स का निर्माण मेडिकल कॉलेज आज इस करो ना के संकट काल में उनके द्वारा दिए गए बड़े-बड़े हॉस्पिटल कोरोनावायरस को मात् करने में लगे हुए हैं। और आज प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अपने विधानसभा ही नहीं पूरा प्रदेश की चिंता कर रहे हैं। लगातार अलग-अलग सेक्टरों में सामाजिक संस्था, जनप्रतिनिधि, जो संस्था कोरोना सेवा मे लगे ऐसे हजारों संस्थाओं से प्रतिदिन चर्चा कर उनके कार्य पर धन्यवाद दे रहे बधाई भी दे रहे हैं और होने वाले परेशानी, तकलीफ पर चर्चा की कर रहे हैं जिस व्यक्ति को जनता सेवा करनी है तो वह कहीं भी रह कर भी प्रतिदिन लोगों से मोबाइल के माध्यम से चर्चा कर समस्या का निदान कर सकते हैं|

    उन्होंने कहा की भारतीय जनता पार्टी राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वह लोकप्रिय क्षेत्रीय विधायक डॉ रमन सिंह रायपुर में रहने की बात कह कर महापौर हेमा देशमुख ने अपनी ओछी मानसिकता का परिचय दिया है। डॉ रमन सिंह की इस कोरोना संकट कॉल मैं सब की पूछ परख कर जरूरतमंदों को सेवा सहयोग पहुंचाना महापौर को फूटी आंख नहीं भा रहा है। इसलिए डॉक्टर साहब की अपार लोकप्रियता से जलकर ऐसी बातें कहने विवश हो रही है। शिव वर्मा ने कहा कि महापौर अपनी कांग्रेस पार्टी का सोचे जिसका मुख्यमंत्री भूपेश बघेल तथा प्रभारी मंत्री कोरोना कॉल े में एक बार भी नांद गांव के लोगों को झांकने तक नहीं आ रहे हैं। यहां तक की जिले के प्रभारी मंत्री नांद ओके कांग्रेसियों की घुटी लड़ाई से पीछा छुड़ाने भाग्भागे फिर रहे हैं। प्रभारी मंत्री को इस महामारी के समय जब लोग जान से हाथ धो रहे हैं। तो वह कवर्धा में बैठकर चैन की बंसी बजा रहा है मुख्यमंत्री बघेल को तो नांद गांव की ओर झांकने के फुर्सत तक नहीं है ऐसे गैर जिम्मेदार कांग्रेसियों की करनी पर पर्दा डालकर महापौर हेमा देशमुख सूरज को दिया दिखा रही है। जबकि पूर्व मुख्यमंत्री ने नांद गांव के विधायक डॉ रमन सिंह बार-बार जनता के बीच आ रहे हैं। पुराना से पीड़ित लोगों से बार-बार संपर्क बनाए हुए हैं उन्हें ऑक्सीजन सिलेंडर से लेकर और भी अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराने में पीछे नहीं है रायपुर में रहकर भी लोगों से बराबर फोन पर बातचीत कर लोगों का हाल-चाल पूछ रहे हैं। समाजसेवी संगठनों के सेवा कार्यों की सराहना कर जरूरतमंदों को राहत पैकेज उपलब्ध करा रहे वहीं दूसरी ओर प्रदेश के मुख्यमंत्री को नांद गांव वासियों की ओर झांकने तक की फुर्सत नहीं है। वर्मा ने निगम के महापौर के बयान को हास्यप्रद कहां है।

    हेमंत वर्मा
    आईएनए न्यूज़ एजेंसी, 
    राजनांदगांव, छत्तीसगढ़

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.