Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    टीकाकरण में बुजुर्ग दिखा रहे जज्बा : अमित श्रीवास्तव

    टीकाकरण में बुजुर्ग दिखा रहे जज्बा : अमित श्रीवास्तव

    • 101 वर्षीय दुर्गा देवी ने कोरोना का टीका लगवाकर खुद को किया प्रतिरक्षित
    • अपने गांव लोगों को किया प्रेरित, कहा - कोरोना से जंग जीतना है तो टीका जरुरी है

    शाहजहाँपुर- उत्तरप्रदेश : स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना संक्रमण को मात देने के लिए 16 जनवरी से कोविड-19 टीकाकरण की शुरुआत की गयी | टीकाकरण के प्रथम चरण में हेल्थ केयर वर्कर्स और दूसरे चरण में फ्रंट लाइन वर्कर्स का टीकाकरण लगभग पूर्ण कर लिया गया  | इसके बाद तीसरे चरण में जनपद के 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों और 45 वर्ष से अधिक आयु के  कोमोर्बिड (जो किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हो ) आम लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए मार्च में कोविड-19 टीकाकरण की शुरुआत की गयी थी  और मई से 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों का टीकाकरण किया जा रहा है | अब कोरोना टीकाकरण को दो भागों में आयोजित किया जा रहा है | एक में 18 से 44 वर्ष और दूसरा 45 वर्ष से अधिक सभी आम लोगों का लगातार टीकाकरण किया जा रहा है| जिसमे युवाओं की अपेक्षा बुजुर्गों में अधिक जज्बा देखने को मिल रहा है | इसी क्रम में शनिवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ददरौल के गांव लक्ष्मीपुर सिमरिया की 101 वर्षीय दुर्गा देवी ने टीकाकरण सत्र पर जाकर कोविड-19 टीकाकरण की पहली डोज लगवाकर कोरोना से  जंग जीतने के लिए खुद को आंशिक प्रतिरक्षित कर लिया और अपने गाँव के लोगों को टीका लगवाने के लिए प्रेरित किया है | यह जानकारी कोविड-19 टीकाकरण सत्र पर कार्यरत स्वास्थ्य कार्यकर्ता मीरा देवी ने दी है l  शनिवार को इस सभी स्त्री सत्रों पर  500  लोगों का टीका लगाने का लक्ष्य तय किया गया था जिसके सापेक्ष्य 450 लोगों को टीका लगाया गया |

    लाभार्थी दुर्गा देवी ने बताया कि – ‘मेरी आयु लगभग 101 वर्ष  है |  मैं अपने गाँव लक्ष्मीपुर सिमरिया की सबसे बुजुर्ग महिला हूँ | मैंने कोरोना से जंग जीतने के लिए टीका लगवाया है सभी लोगों को कोरोना का टीका लगवाकर कोरोना से जंग जीतने का इरादा  बनाना होगा तभी हम सब कोरोना से मुक्ति पाएंगे |  कोरोना से जीतना है तो कोरोना का टीका जरुर लगवाएं | मैंने  4 घंटे पूर्व पहली डोज लगवाई है मुझे टीके से कोई परेशानी नहीं हुई है | टीका पूर्ण सुरक्षित और असरदार है |

    अमित श्रीवास्तव बीसीपीएम ददरौल  ने बताया कि 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोग अपना टीकाकरण जरुर कराएं और टीकाकरण के बाद भी कोरोना संक्रमण से खुद बचने और अपनों को बचाने के लिए शासन द्वारा जारी गाइड लाइन को अपनाने के लिए लगातार स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा जन समुदाय को प्रेरित किया जा रहा है |  कोरोना उपचाराधीन  खांसते-छींकते समय रुमाल या टिश्यु पेपर का इस्तेमाल करें,  कोविड पाजिटिव सहित सभी लोगों के स्पर्श एवं  संपर्क में आने से बचें, बाहरी चीजों को बिना किसी काम के छूने से बचें, भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचें,  ज्यादा भीडभाड़ में जाने से कोरोना प्रसारित हो सकता है | अतः कोरोना संक्रमण से बचने के लिए जनपद के सभी नागरिकों को फेस मास्क पहनना, एक दूसरे के बीच दो गज या 6 फिट की दूरी बनाकर रखें,  , बार बार अपने हाथों को 30 सेकेंड तक साबुन पानी से अच्छे से धुलते रहें या सेनीटाइज करते रहें और बिना किसी काम के घर से बाहर  निकलने से बचें,  अपना और अपनों का ख्याल रखें| साथ ही  उन्होंने बताया कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ददरौल के अंतर्गत अब तक 45 से अधिक आयु के लगभग नौ हजार लोगों और 18 से अधिक आयु के लगभग दो हजार लोगों को कोरोना का टीका लगाकर प्रतिरक्षित किया जा चुका है | टीकाकरण को और अधिक बढ़ाने के लिए स्वास्थ्य कार्यकर्ता डा. सचिन गुप्ता, बीपीएम फेजुल हक , एचईओ अफरोज अहमद  , बीसीपीएम अमित श्रीवास्तव ,नरेंद्र मिश्रा और निगरानी समिति के सदस्यों द्वारा 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों  को घर - घर जाकर शत प्रतिशत टीकाकरण कराने के लिए प्रेरित जा रहा है और बताया जा रहा है कि कोरोना से जंग  जीतने के लिए टीकाकरण ही सबसे जरुरी हथियार है |

    फ़ैयाज़ उद्दीन, शाहजहाँपुर- उत्तरप्रदेश
    INA NEWS(Initiate News Agency)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.