Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर के हैलट अस्पताल में जमकर लापरवाही, कोविड से हुई मौतों पर पर्दा डालने में जुटा अस्पताल प्रशासन

    कानपुर के हैलट अस्पताल में जमकर लापरवाही, कोविड से हुई मौतों पर पर्दा डालने में जुटा अस्पताल प्रशासन

    अभी तक 160 लोगों की मौतों को पोर्टल में अपडेट नही किया गया

    कानपुर- उत्तरप्रदेश : कोविड की सेकेंड वेव के दौरान कानपुर के हैलट अस्पताल में जमकर लापरवाही हुई। अस्पताल की लापरवाही पर कानपुर दौरे के दौरान सीएम ने अस्पताल प्रशासन को फटकार लगायी थी। वहीं हैलट अस्पताल प्रशासन कोविड से हुई मौतों पर पर्दा डालने में जुट गया है। आलम यह है कि अभी तक 160 लोगों की मौतों को पोर्टल में अपडेट नही किया गया है। 

    कानपुर में कोरोना की सेकेंड वेव में पीक के दौरान मेडिकल इमरजेंसी जैसी हालात रहे। लोगों की सबसे बड़ी उम्मीद हैलट अस्पताल में मरीजों को सही इलाज नही मिल सका। जिसके चलते यहां बड़े पैमाने पर लोगों को जान गंवानी पड़ी। हैलट में अप्रैल और मई में करीब 500 मौतें हुई है। अभी भी 160 मौतों के आंकड़ों को छुपाया जा रहा है। कई दिनों तक मृतको के आँकड़े उपलब्ध नही कराने पर CMO को रिपोर्ट करने वाली डाटा टीम ने इस संदर्भ में लगातार 7 मांग पत्र जारी किये ।

    हमारे पास कई पत्र लगे है जिसमे हैलट प्रशासन से मरने वालों की लिस्ट मांगी गई है। इसके बाद भी हैलट से लिस्ट जारी नही की गई। इससे साफ है कि हैलट प्रशासन मरीजो की मौत पर पर्दा डालने का काम करता रहा है। कोरोना के पीक पर हैलट अस्पताल में एक दिन में अधिकतम मरने वालों की संख्या 18 तक गयी है।

    डॉ0 रिचा गिरी, वाइस प्रिन्सिपल, GSVM मेडिकल कॉलेज

    मेडिकल कॉलेज की वाइस प्रिन्सिपल का कहना है कि अप्रैल और मई में मरीजो की संख्या लगभग 500 तक रही है। उसके मुकाबले में डाक्टर और स्टाफ काफी कम है। जिसके चलते डिटेल देने में देर हुयी है। उंन्होने माना कि अभी भी 160 मरीजों की मौत का आंकड़ा पोर्टल पर अपडेट होना बाकी है। जिसको बहुत जल्द पूरा कर लिया जाएगा।

    इब्ने हसन जैदी, कानपुर- उत्तरप्रदेश
    INA NEWS(Initiate News Agency) 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.