Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    सम्भल। शबे कद्र की रात हजार रातो की इबादत से अफज़ल

    सम्भल। 20वां रोजा चल रहा है। मुकद्दस रमजान की रौनक बरकरार है। रमजान का पुरकैफ समां चारों ओर है। सहरी व इफ्तार के वक्त नूर की बारिश हो रही है। घरों में इबादत और तिलावत जारी है। सोमवार को रोजेदारों ने जमकर इबादत की। कोरोना वबा से पूरे मुल्क की हिफाजत की दुआ मांगी। नबी-ए-पाक हजरत मोहम्मद सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम की बारगाह में दरूदो सलाम का नजराना पेश किया। 

    तंजीम अशरफ (नाज़िमे आला, मदरसा अहले सुन्नत अजमल उलूम)

    दूसरा अशरा चल रहा है। वहीं आने वाला रमजान का तीसरा अशरा जोकि जहन्नम से आजादी का है, वह बहुत अहम है। आखरी अशरे में शबे कद्र की रात आती है। जिसमें इबादत का सवाब हजार रातो की इबादत के सवाब से अफजल है। शबे कद्र में ही कुरआन-ए-पाक नाजिल हुआ। इस अशरे में भी कोरोना वबा से निजात के लिए दुआ करनी चाहिये।



    उवैस दानिश

    Initiate News Agency (INA), सम्भल

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.