Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    बंधु क्लीनिक पर 500 रुपये के लिए मरीज़ को भगा देने का आरोप

    बंधु क्लीनिक पर 500 रुपये के लिए मरीज़ को भगा देने का आरोप

    सीतापुरउत्तरप्रदेश : डाक्टर भगवान होते हैं , लोगों की जान बचते हैं . लेकिन जब डाक्टर लोगों की जान के साथ मजाक और खिलवाड़ करने लगें और पैसा मांगने लगे तो ऐसे भगवान को क्या नाम दिया जाएगा . भगवान या हैवान . ये फैसला इस परिवार पर है जो अपने बच्चे को लेकर अस्पताल के बाहर बैठा है . आरोप है कि बंधु क्लीनिक में बच्चे को भर्ती कराया था . बीमार था . डॉक्टर्स ने पैसा मांगा दिया भी जो भी पास था . बस 500 रुपये कम थे तो डॉक्टर ने अस्पताल से बाहर फैंक दिया .

    वो भी आधी रात को . बच्चा मारे क्या जीये डाक्टर को तो पैसों से मतलब है .वाह रे ऐसे भगवान . जो सिर्फ पैसों पर मरते हैं . दिमागी बुखार से परेशना ये बच्चा तड़प रहा है . लेकिन बंधु क्लीनिकके मौजूद डॉक्टर्स की आंखों में तरस नही आया . उसके पीछे की वजह थी कि क्लीनिक में मौजूद डॉक्टर्स को इस गरीब परिवार की झोली में पैसा नही दिखाई दिया . कोई मरे या जीये डॉक्टर्स को पैसा चाहिए .

    सिर्फ पैसा . ये गरीब परिवार आधी रात सड़क किनारे बैठा रहा और अपने बच्चे को तड़पता हुआ देखता रहा . और आंखों में आंसू लिए उसके कब मरने का इंतज़ार करता रहा .

    क्योंकि की अब मासूम की तड़प परिवार से देखी नही जा रही थी। सीतापुर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी को इस गंभीर मामले को संज्ञान में लेकर जांच कर कार्यवाही करनी चाहिए| ताकि डॉक्टर्स को भगवान का रूप कहने और मानने वालों पर विश्वास बना रहे . और कोई इस प्रोफेशन को बदनाम न कर पाए|

    ज्योति कुमार,  सीतापुरउत्तरप्रदेश
    INA NEWS(Initiate News Agency)


    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.