Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कपिल देव अग्रवाल ने न्यू कलेक्ट्रेट सभागार में कोविड-19 की आहूत समीक्षा बैठक

    कपिल देव अग्रवाल ने न्यू कलेक्ट्रेट सभागार में कोविड-19 की आहूत समीक्षा बैठक

    शाहजहाँपुर- उत्तरप्रदेश : कोरोना के विरूद्ध इस महायुद्ध में हमारा प्रदेश बहुत जल्द विजयी होगा और अन्य प्रदेशों के लिए पथ प्रदर्शक का कार्य करेगा। कोविड प्रबंधन के तहत योगी सरकार ने जो कदम उठाया है विश्व स्वास्थ्य संगठन (ॅभ्व्) द्वारा उसकी मुक्त कंठ से प्रशंसा की गयी है। सरकार के आंकड़े नहीं, बल्कि डब्ल्यूएचओ ने स्वयं  अपने प्रतिनिधि उत्तर प्रदेश में भेजकर हजारों घरों में दस्तक देकर जानकारी जुटाई और अपनी रिपोर्ट तैयार की। यह बात जनपद के प्रभारी मंत्री व राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग, उ0प्र0, कपिल देव अग्रवाल ने न्यू कलेक्ट्रेट सभागार में कोविड-19 की आहूत समीक्षा बैठक के दौरान कही।  उन्होंने कहा कि योगी सरकार के कुशल प्रबंधन के परिणमस्वरूप प्रदेश में रिकवरी रेट बड़कर 91.40 प्रतिशत तथा पाॅजिटिविटी रेट 22 प्रतिशत से घटकर 2.45 प्रतिशत तक पहुंच गया है। 

    अग्रवाल ने कहा कि योगी सरकार ने इस कोरोना की घड़ी में निजी स्कूलों की फीस बढ़ोत्तरी पर प्रतिबंध लगाकर जनता को बड़ी राहत दी है। कोविड-19 से उत्पन्न परिस्थितियों में गरीबों और जरूरतमंदों को राहत पहुंचाने के लिए राज्य सरकार द्वारा अंत्योदय एवं पात्र गृहस्थी श्रेणी के राशनकार्ड धराकों को 03 माह के लिए प्रतिमाह प्रति यूनिट 03 किलो गेहूं तथा 02 किलो चावल निःशुल्क उपलब्ध कराया जाएगा। इससे प्रदेश की प्रतिमाह लगभग 15 करोड़ जनसंख्या लाभान्वित होगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार समाज के गरीब और कमजोर वर्गो को हर संभव राहत और मदद उपलब्ध कराने के लिए कृतसंकल्पित है। योगी सरकार ने शहरी क्षेत्रो में दैनिक रूप से कार्य कर अपना जीविकोपार्जन करने वाले ठेला,खोमचा, रेहड़ी, खोखा आदि लगाने वाले पटरी दुकानदारों, दिहाड़ी मजदूरों, रिक्शा/ई-रिक्शा चालक, पल्लेदार सहित नाविकों, नाई,धोबी,मोची, हलवाई आदि जैसे परंपरागत कामगारों को एक माह के लिए 1,000 रूपये का भरण-पोषण भत्ता प्रदान किए जाने के निर्देश जारी किया है। इससे लगभग 01 करोड़ गरीबों को राहत मिलेगी।

    सरकार ने सभी श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए 02 योजनाएँ संचालित की है। दुर्घटना में दुर्भाग्यवश किसी श्रमिक की मृत्यु अथवा दिव्यांगता हो जाने पर 02 लाख रूपये के सुरक्षा बीमा कवर तथा 05 लाख रूपये तक के स्वास्थ्य बीमा कवर की व्यवस्था की है। उन्होंने कहा है कि आंशिक कोरोना कफ्र्यू के दौरान जरूरतमंदों के लिए कम्युनिटी किचन के माध्यम से भोजन की व्यवस्था की गयी है। राज्य सरकार पूर्व से ही कोविड-19 की निःशुल्क जांच एवं उपचार की सुविधा उपलब्ध करा रही है जिसके अंतर्गत भारत सरकार द्वारा 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगो का निःशुल्क टीकाकरण कराया जा रहा है। उन्होंने कहा है कि सरकार ने सभी शिक्षण संस्थानों में 20 मई, 2021 से आॅनलाइन क्लास का संचालन प्रारंभ किये जाने के निर्देश जारी किये है।

    इस अवसर पर प्रभारी मंत्री ने जनपद स्तर पर कोविड-19 के प्रबन्धन की समीक्षा की और कहा कि 17727 कोरोना संक्रमित मरीज ठीक हो चुके है। वर्तमान में एक्टिव मामले 1950 है तथा पाॅजिटिव मामलों की संख्या 64 है। कहा कि अब तक कुल 414890 कोविड टेस्ट हुए है। इससे स्पष्ट होता है कि कोरोना का ग्राफ नियंत्रण में है। विशेषज्ञों का कहना है कि अगर तीसरी लहर आती है तो बच्चों पर प्रभाव पड़ सकता है। प्रदेश व जनपद स्तर पर तीसरी लहर से बच्चों को बचाय जाने हेतु आवश्यक तैयारियां की जा रही है। अभी तक इस जनपद में ब्लैक फंगस नाम बीमारी का कोई मरीज नहीं पाया गया है। चिकित्सक एवं प्रभारी चिकित्साधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि ब्लैक फंगस का मरीज कोई संज्ञान तो उसका इलाज बेहतर ढंग से कराया जाए। उन्होंने कहा कि जनपद में आॅक्सीजन प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है। कोई भी व्यक्ति मेटिकल रीजन से आॅक्सीजन लेना चाहता है तो वह ले सकता है। आॅक्सीजन की किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं है। कोविड टेस्टिंग क्षमता निरन्तर बढ़ाई जा रही है। कोविड हाॅस्पिटलों में पर्याप्त संख्या में बेड उपलब्ध है। निगरानी समितियांे व आर0आर0टी0 टीम द्वारा घर-घर कोविड टेस्टिंग का कार्य किया जा रहा है एवं अवश्यक दावायें उपलब्ध करावायी जा रही है। जनपद में निगरानी समितियों द्वारा 13948 लोगों को मेडिकल किट उपलब्ध करा दी गयी है। इसके साथ ही कल दिनांक 21.05.2021 को निगरानी समितियों द्वारा 168 गांवों का भ्रमण किया गया। नगर निगम एवं जनपद के सभी नगरीय, ग्रामीण क्षेत्रों में संघन सेनेटाइजेशन का कार्य कराया जा रहा है। नगर निगम द्वारा समस्त कंटेंटमेन्ट जोन एवं सार्वजनिक स्थलांे पर दैनिक सेनेटाइजेशन एवं अन्य क्षेत्रो में रोस्टर के अनुसार सेनेटाइजेशन कराया जा रहा है। सेनेटाइजेशन के साथ ही एण्टी लार्वा दवाई का छिड़काव एवं फाॅगिंग का कार्य भी कराया जा रहा है। इस अवसर पर प्रभारी मंत्री ने कलेक्टेªट में स्थापित एकीकृत कोविड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होने कर्मचारियों के कार्यो का पटलवार फीडवैक लिया।

    बैठक से पूर्व प्रभारी मंत्री ने रोसर कोठी गांव का भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने निगरानी समिति एवं आर0आर0टी टीम से वार्ता की उनके कार्य दायित्वों का फीड बैक लिया। निगरानी समिति एवं आर0आर0टी टीम से कहा है कि इस कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के समय अपने कार्य को सेवा भाव से करे। राज्य मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री ने गांवो को कोरोना मुक्त बनाने के लिए विशेष अभियान ‘‘मेरा गांव कोरोना मुक्त गांव‘‘ अभियान चलाने का निर्देश दिया है। इसमें गांव स्तर पर जांच, उपचार और टीकाकरण कार्य पर पूरा जोर दिया जा रहा है। उन्होंने जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिए कि नवनिर्वाचित प्रधानों से समन्वय स्थापित करते हुए साफ-सफाई व सेनेटाइजेशन के कार्य को बेहतर ठंग से करवाये।

    यह भी सुनिश्चित करे कि हर एक होम आइसोलेशन के मरीज को मेडिकल किट उपलब्ध हो। उन्होंने गांव के प्राथमिक विद्यालय की साफ-सफाई व्यस्था की प्रशंसा की। इसके उपरान्त उन्होंने प्रदेश के कैबिनेट मंत्री  सुरेश कुमार खन्ना के साथ संयुक्त रूप से मेडिकल कालेज का निरीक्षण किया। इस दौरान कैबिनेट मंत्री  सुरेश कुमार खन्ना द्वारा अस्पताल में मरीजों का हालचाल लिया गया। इसके साथ ही साफ-सफाई व्यवस्था देखी गयी। अस्पताल में साफ-सफाई व्यवस्था संतोषजनक मिली।

    इस अवसर पर जिलाधिकारी  इन्द्र विक्रम सिंह, पुलिस अधीक्षक  एस आनन्द, अपर जिलाधिकारी प्रशासन  रामसेवक द्विवेदी, अपर जिलाधिकारी वि0/रा0 गिरिजेश कुमार चौधरी, नगर आयुक्त संतोष कुमार शर्मा, नगर मजिस्ट्रेट  राजेश कुमार मुख्य चिकित्साधिकारी एसपी गौतम आदि अधिकारी उपस्थित रहें।

    फ़ैयाज़ उद्दीन, शाहजहाँपुर- उत्तरप्रदेश
    INA NEWS(Initiate News Agency)

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.