Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    बैतूल पुलिस ने 16 साल से लापता को परिवार से मिलवाया, भाई से मिलकर बहन हुई भावविभोर

    बैतूल पुलिस ने 16 साल से लापता को परिवार से मिलवाया, भाई से मिलकर बहन हुई भावविभोर

    पत्नी और ससुराल वालों से विवाद के बाद हुई थी मानसिक स्थिति खराब

    बैतूल- मध्यप्रदेश : ताजा मामला मध्यप्रदेश के बैतूल का है जहाँ  एक ऐसा सख्स  पुलिस को मिला है जो अपने सुसराल में हुए विवाद के बाद मानसिक रोगी हो गया था और अपना घर द्वार छोड़कर निकल गया था  घर  जो  16 सालो से  सड़को पर भटक रहा था बैतूल पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि  मानसिक रोगी सुरेश कटनी से था लापता, जो बैतूल में मिला घर वाले जिसे मरा समझकर भूल चुके थे| उस शख्स को को उसके परिवार वालों से मिलवा दिया| मामला एक ऐसे शख्स का है जो बदहवासी की हालत में सड़कों पर घूमता नजर आता था।  बैतूल के चक्कर रोड पर मिले एक 45 साल के शख्स से जब पुलिस ने बात की तो पता चला कि वह कटनी जिले का रहने वाला है और उसका मानसिक संतुलन खराब हो गया है|

    लेकिन उसे अपना पता ठिकाना याद है।  जब उसके गांव संपर्क किया गया तो पता चला कि वह तो 16 साल से गायब है। पुलिस के प्रयास के बाद आज जब यह शख्स परिजनों को मिला तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। दरअसल कटनी जिले के जोबा गांव का निवासी सुरेश पिता आधान पटेल बैतूल पुलिस को चक्कर रोड पर घूमता मिला था । जब इस शख्स से पूछताछ की गई तो उसने अपने गांव का नाम पता पुलिस को बताया। जब इस शख्स की व्हाट्सएप पर  जिला  कटनी के जोबा गांव के सचिव को फोटो भेजी गई। तो पता चला कि यह व्यक्ति 2004 से लापता है ।

    सुरेश की फोटो जब परिजनों को दिखाई गई तो वह उसे पल में पहचान गए। और आज उसकी बहन अंजू उसे लेने बैतूल पहुंची तो उसकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा । बताया जा रहा है कि सुरेश का अपनी पत्नी और ससुराल वालों से रुपयों के लेन-देन पर झगड़ा हुआ तो उसका मानसिक संतुलन खराब हो गया और फिर वह अपने घर से ऐसे निकला कि फिर घरवालों को ढूंढने से भी नहीं मिला।

    दो बच्चों का पिता सुरेश 14 साल से  इधर उधर भटक रहा था। मानसिक संतुलन खराब होने की वजह से वह अपने घर भी नहीं पहुंच पा रहा था । जबकि घर वालों ने उसे आसपास ढूंढा और फिर मृत समझकर भूल गए लेकिन आज जब पुलिस ने उसे गश्त के दौरान पकड़ा और पूछताछ की तो उसकी हकीकत सामने आ गई। पुलिस की मदद के बाद आज जब उसकी बहन अंजू पटेल पहुंची तो वह अपने भाई से मिलकर भाव विभोर हो गई। महिला अब अपने भाई को लेकर गांव रवाना हो गई है।

    शशांक सोनकपुरिया
    आईएनए न्यूज़ एजेंसी, बैतूल- मध्यप्रदेश


    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.