Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    मध्यप्रदेश/बैतूल। बैतूल जिले के एक युवा समाजसेवी राजा सूर्यवंशी भोजन सेवा में जुटे हैं पिछले 1 महीने में 7000 मरीजों को और भोजन मुहैया करा चुके हैं

    मध्यप्रदेश/बैतूल। पिछले डेढ़ माह से लॉक डाउन लगा हुआ है और कोरोना अपने पूरे शबाब पर है, ऐसे में कठिन समय में कोरोना से लड़ रहे मरीज और उनके परिजनों की मदद के लिए युवा समाजसेवी आगे आये है और दोनों टाइम उन्हें गर्म और स्वादिष्ट भोजन उपलब्ध करा रहे है । 

    कोरोना महामारी के इस दौर में अधिकांश लोग जहां अपनी जान बचाने की मजबूरी में अपने-अपने घरों में कैद हैं वहीं युवा समाजसेवी राजा सूर्यवंशी अपने साथियों समाज के साथ भोजन सेवा में जुटे हैं। पिछले एक महीने में वे 7000 मरीजों और उनके परिजनों को  भोजन मुहैया करा कर मानवता की बड़ी सेवा कर चुके हैं। 

    कोरोना की इस दूसरी लहर में राजा सूर्यवंशी अपने साथियों के साथ सडक़ों पर उतरे और बेखौफ होकर जरूरतमंद को भोजन पहुंचाने में जुट गए। इसके लिए पहले खुद की जमा की गई रकम इस काम मे लगाई लेकिन जब दोस्तो ने उनका जुनून देखा तो उन्होंने भी सहयोग शुरू दिया।  

    अप्रैल में लॉकडाउन के बाद सबसे पहले किरार समाज भवन से भोजन सेवा में  हरीश गड़ेकर, भरत सूर्यवंशी, केशो डढोरे, दीपक सोलंकी की टीम के साथ उन्होंने अपना सेवा प्रकल्प शुरू किया। इसके बाद देखते ही देखते पूरा समाज ही उनके साथ आ खड़ा हुआ। विगत 20 अप्रैल को यह नि:शुल्क भोजन सेवा दूरदराज से आए मरीजों एवं उनके परिजनों के साथ ही असहाय गरीब परिवारों के लिए शुरू की गई थी। 

    राजा सूर्यवंशी (भोजन करवा रहे समाजसेवी)

    इस सेवा कार्य का एक महीना हो चुका है और अभी तक वे 7000 लोगों को भोजन करा चुके हैं। राजा बताते हैं कि मरीजों के लिए सुबह-शाम दलिया, दाल, पानी और परिजनों को खिचड़ी, सब्जी, रोटी दी जा रही है। गरीब जरुरतमंदों को घर-घर पहुंचाकर वहीं मरीजों व उनके परिजनों को शहर के प्रमुख निजी अस्पतालों और कोविड सेंटरों पर भोजन उपलब्ध करवा रहे है।

    नंदकिशोर (मरीज के परिजन)



    शशांक सोनकपुरिया

    Initiate News Agency(INA), बैतूल 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.