Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    गया। त्रिपुरा DM ओबीसी शैलेश यादव का निलंबन अविलम्ब रद्द करे सरकार--बीरेन्द्र गोप

    गया। ओबीसी महासभा बिहार के प्रदेश अध्यक्ष सह प्रदेश महासचिव राष्ट्रीय जनता दल बिहार अधिवक्ता बीरेन्द्र कुमार उर्फ बीरेन्द्र गोप ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र के माध्यम से ज्ञापन सौपकर त्रिपुरा DM ओबीसी शैलश  यादव के मामले में हस्तक्षेप कर निलंबन रद्द करने की मांग की है। बीरेन्द्र गोप ने बताया कि

    त्रिपुरा में अगरतला DM ओबीसी शैलेश यादव जी ने एक हाईप्रोफाइल शादी पार्टी में आयोजकों पर  अनुशासनात्मक कारवाई कर कोई गलती नहीं कि है क्योंकि कोरोना महामारी के चलते वहाँ पूर्ण कर्फ्यू लगा था लेकिन एक BJP के कद्दावर नेता के रिश्तेदार ने कानून की धज्जियां उड़ाते हुये हजारों मेहमानों को आलीशन फार्म में बुलाकर नाच गाना से महफ़िल सजाकर शादी की पार्टी जारी रखी थी, लेकिन वहाँ की आम जनता ने इस पार्टी कि सुचना   DM  ओबीसी शैलश यादव तक पहुँचा दी, सुचना पाकर कर्तव्यनिष्ट बहादुर अफ़सर ने प्रेम से शासन द्वारा जारी कानून न तोड़ने व करोना जैसे खतरनाक वैश्विक महामारी के बढ़ने की आंशका बताकर पार्टी समाप्त करने का अनुरोध कर क्या वे कोई गुनाह कर दिये? लेकिन सत्ता के नशे में चूर सत्ताधारी BJP नेता के नजदीकी अपने आप को कुलीन व अभिजात्य वर्ग के होने का धौंस दिखाकर अँग्रेजी में DM साहब को डांटना शुरू कर दिया तब DM शैलश यादव ने भी उनलोगों को कानून का पाठ पढ़ाकर सबकी खबर ली,क्या कानून का पालन कराना कोई अपराध है। श्री बीरेन्द्र गोप ने कहा कि संवैधानिक नियमों के अनुसार कारवाई करना मनुवादी विचारधारा के लोगों को रास नहीं आने की वजह से ही जिलाधिकारी महोदय को निलंबित कर दिया गया है।

    जिसकी जितनी भी निन्दा की जाय कम होगा। बीरेन्द्र गोप ने कहा कि क्या एक देश में दो कानून काम कर रही है। कुलीन व अभिजात्य वर्ग के लिये अलग और ओबीसी, एससी/एसटी वर्ग के लिये अलग,अगर ऐसा नहीं है तो भारत के इतिहास में पहली बार लोकतंत्र कि हत्या कर विधानसभा के अन्दर विधायकों को मारपीट कर सदन से बाहर फेककर लोकतंत्र की हत्या करनेवाले DM जो अभिजात्य वर्ग से आते हैं,उनपर अभी तक कारवाई क्यों नहीं हुई। जब एक थप्पड़ मारने पर DM ओबीसी शैलश यादव को बर्खास्त किया जा सकता है तो लोकतंत्र की हत्या करने वाले DM को फांसी पर लटका दिया जाना चाहिए था।श्री बीरेन्द्र गोप ने बताया कि अभी तो ओबीसी महासभा भारत द्वारा ओबीसी शैलश यादव की निलंबन वापसी के लिये सभी प्रांतो से प्रधानमंत्री जी को ज्ञापन सौंपा गया है, अगर निलंबन वापस नहीं हुआ तो पूरे देश में ओबीसी महासभा द्वारा जन आंदोलन चलाया जायेगा।


    प्रमोद कुमार यादव

    Initiate News Agency (INA), गया

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.