Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    ... अब हमने एक और कलमवीर को खो दिया

    ... अब हमने एक और कलमवीर को खो दिया
    नई दिल्ली : कोरोना महामारी ने दूर रहना सिखा दिया, हंसना खेलना भुला दिया। क्या कभी हमने सोंचा था कि किसी के पास खड़े होने के लिए भी हमें सरकार के नियमों का पालन करना पड़ेगा। आज ऐसा ही वक़्त हम सब देख रहे हैं। आज की स्थिति बहुत गंभीर है। हम फिर भी इसे हल्के में ले रहे हैं। कई बुद्धिजीवी इसे आज भी इसे कोई महामारी न समझकर सिर्फ एक ढोंग समझ रहे हैं। उनके अनुसार, पूरी दुनिया में ये जो महामारी फैली है, वो सिर्फ एक धोखा है, दिखावा है और छलावा है। ऐसे लोगों की मानसिकता को हम पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि देते हैं। इस महामारी के कारण हमने न जाने कितने अपनों को खो दिया, कितनी प्रतिभाओं को खो दिया। इसी भीषण और विकराल बीमारी ने आज क्रांतिकारी पत्रकार व अप्रतिम वाणी और अद्भुत प्रतिभा के धनी रोहित सरदाना की जिंदगी भी निगल ली। एक ऐसा कलमवीर, जो हमारे समाज का एक चमकता सितारा था, जो डंके की चोट पर देशविरोधी लोगों का पर्दाफाश करने का साहस रखता था। आज कलम उसके हाथ से नीचे गिरकर खून के आंसू रो रही होगी।
    रोहित सरदाना

    उसके मुख से निकलने वाली भाषा शैली भी आज बिलख रही होगी। कई ऐसी आंखें होंगी, जो उसकी तस्वीर अपनी आंखों में लिए उसे बार-बार भिगो रही होंगी। हमारे देश में इस समय जल रही चिताएं, घरों व अस्पतालों के बाहर बेजान हो रहे शरीर, बेघर हो रहे आशियाने इस बात का सुबूत हैं कि इंसान किसी बड़े पाप का भागी रहा है। जाने-अनजाने में उसने कोई तो ऐसा दुष्कृत्य किया है, जिसकी सजा आज हम सभी भुगत रहे हैं। फिर भी हम अपने गिरेबां में न झांककर दूसरों को कोसने में लगे हुए हैं। पिछले लॉक डाउन के बाद से हमने जो लापरवाहियां की हैं, क्या उन्हें दरकिनार किया जा सकता है, क्या उन्हें माफ किया जा सकता है। लॉक डाउन खुला तो हम बेफिक्र हो गए। सारी सावधानियों को किसी ठंडे बस्ते में डालकर हमने एक बक्से में किनारे कहीं फेंक दिया और उस बक्से पर ताला लगा दिया। आ गया न अब उससे भी भयावह समय। यह देखना बाकी था अब। इतिहास बनाना था न। बन गया इतिहास और ऐसा बना कि अब न जाने, यह कितनी कुर्बानियां और लेगा।
    कलमवीर पत्रकार रोहित सरदाना को भावपूर्ण श्रद्धांजलि।

    आईएनए न्यूज़ एजेंसी, नई दिल्ली

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.