Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    गया। प्राण वायु ( ऑक्सीजन ) की प्रचुर मात्रा में उपलब्धता नहीं कराने के लिए पूर्णतः सरकार दोषी - कांग्रेस

    गया। अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के सदस्य सह मगध प्रमंडल कांग्रेस प्रवक्ता प्रो विजय कुमार मिठू, बाबूलाल प्रसाद सिंह, अशोक सिंह, राम प्रमोद सिंह, अमरजीत कुमार, टिंकू गिरी, अमित कुमार उर्फ रिंकू सिंह, रामाश्रय सिंह, साधु शरण सिंह, राजेश्वर पासवान, मो सरवर खान, मो अजहरुद्दीन, सुरेन्द्र मांझी, विनय कुमार सिन्हा, अरुण कुमार पासवान, विनोद बनारसी, बबलू कुमार आदि ने कहा कि कोरोनावायरस पीड़ितो के लिए प्राण वायु, ऑक्सीजन की प्रचुर मात्रा में उपलब्ध नहीं कराने में सरकार की लूंज, पुंज व्यस्था, दृढ़ इच्छा शक्ति की कमी, मुख्य कारण है, जिसे कल पटना उच्च न्यायालय द्वारा गठित कमिटी के सदस्यों के रिपोर्ट में उजागर हुआ है, कमिटी के सदस्य ने बताया कि पटना के लिए उपलब्ध कराई गई प्रति दिन की ऑक्सीजन की कोटा 194 मीट्रिक टन के स्थान पर सरकार केवल 90 मीट्रिक टन ही उठाव किया जो आधा से भी कम है।

    नेताओ ने कहा को बिहार के पड़ोसी राज्य झारखंड के बोकारो एवम् जमशेदपुर में ऑक्सीजन का बमफर स्टॉक है जो बिहार सहित, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली तक नित्य दिए ऑक्सीजन भेज रहा है। झारखंड में सेल, टाटा कंपनी के अलावा सैकड़ों प्राइवेट ऑक्सीजन वाली संयत्र है, जो जितना ऑक्सीजन की जरूरत है, देने को तैयार बैठी है।

    नेताओ ने कहा की एक बड़ा सिलिंडर एवम् गैस आसानी से दस हजार तीन सौ में उपलब्ध है, जिसमें दस हजार सिलिंडर का सिक्युरिटी तथा शेष 50 रुपए प्रति क्यूबिक मीटर के हिसाब से सात क्यूबिक मीटर गैस का दाम 350 रुपया होता है।

    नेताओ ने कहा को प्रधानमंत्री द्वारा बिहार के पंद्रह जिला में ऑक्सीजन उत्पादन हेतु संयत्र लगाने एवम् दस हजार प्रोटबल ऑक्सीजन सिलिंडर देने की घोषणा, जो उन्होंने पी, एम केयर फंड से की है, उसे अविलंब शुरू किया जाए।

    नेताओ ने दृढ़ इच्छा शक्ति का उदाहरण देते हुए कहा कि महाराष्ट्र के नंदुरबार जिला के जिला अधिकारी आज देश के मीडिया के सुर्खियों में है, जिन्होंने अपनी मेहनत, लगन, दृढ़ इच्छा शक्ति से पूरे जिला में आदर्श प्रस्तुत करते हुए आदिवासी पिछड़ा जिला होने के बाद भी, वहां किसी चीज की कमी नहीं है, चाहे ऑक्सीजन, दवाइयां, अस्पताल में बेड किसी चीज की कमी नहीं है, अगर ऐसी इच्छा शक्ति देश के सभी 850 जिला के जिलाधिकारी, केंद्र एवम् राज्य सरकार बना ले तो कोरोनावायरस महामारी संकट से निपटने में सिस्टम पूरी तरह सक्षम हो जाए।


    प्रमोद कुमार यादव 

    Initiate News Agency (INA), गया 


    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.