Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    होमियोपैथिक डॉक्टर हेमंत मोहन की दवाई कोरोना को विफल करने कारगर साबित, आईजी ने भी स्वीकारा

    होमियोपैथिक डॉक्टर हेमंत मोहन की दवाई कोरोना को विफल करने कारगर साबित, आईजी ने भी स्वीकारा

    कानपुर : कानपुर में एक तरफ कोरोना के मरीज बढ़ रहे हैं तो दूसरी तरफ एक होमियोपैथिक डॉक्टर के इलाज को लेकर पुलिस अधिकारी भी उनकी वाह-वाही करने लगे| कानपुर के वह होमियोपैथिक डॉक्टर है हेमंत मोहन, जिनकी दवा कोरोना मरीजों पर रामबाण साबित हो रही है| खुद कानपुर आईजी ने आज इस बात को स्वीकार किया कि डॉक्टर हेमंत की दवा से उनके बहुत से पुलिसकर्मी कोरोनावायरस से ठीक हुए हैं| डॉक्टर के क्लिनिक में 24 घंटो मरीजों की भीड़ लगी रहती है|उनकी क्लीनिक पर कोरोना से बचाव के लिए भी मरीजों का तांता लगा रहता है|

    होमियोपैथिक दवा का ईजाद करने वाले डॉ हैनिमेन की याद में कानपुर के आरोग्यधाम में 266वां विश्व होमियोपैथिक  दिवस के रूप में मनाया गया|इस अवसर पर आईजी मोहित अग्रवाल ने दीप प्रज्वलित करने के बाद केक काटकर इस दिवस को मनाया|आपको बता दे कि जब कोरोना अपनी चरम सीमा पर था|तब कानपुर के  होमियोपैथिक  डॉ हेमंत और आरती मोहन ने कोवीड मरीजों को निशुल्क दवा दी थी|कोवीड के समय चौबीस घंटो अपनी ड्यूटी करने वाले पुलिस कर्मियों को भी दवा निशुल्क दी गई|शनिवार को विश्व  होमियोपैथिक दिवस के अवसर पर आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया कि  जैसे-जैसे कोरोना बढ़ रहा है उसको देखते हुए एहतियात बरतने की जरुरत है|इस बीमारी में शरीर की पावर बढ़ाने की जरुरत होती है जिसको होमियोपैथिक दवा पूरा करती है|पिछले कोरोना के समय में आरोग्यधाम की तरफ से पुलिस कर्मियों के साथ-साथ काफी लोगो को निशुल्क होमियोपैथिक दवा दी गई थी|इनकी दवा कानपुर के अलावा पूरे देश में लोगो को उपलब्ध कराई गई थी|जिससे लोगो कोरोना से बचाव कर सके है|अब एक बार फिर से कोरोना बढ़ रहा है इसलिए अगर हम  अन्य दवाओं के साथ होमियोपैथिक दवा लेंगे तो इसके परिणाम अच्छे आएंगे|आईजी ने जनता से अपील करी कि सभी लोग कोवीड गाइडलाइन का पालन करे जिससे एक बार फिर से इसको मात दी जा सके|

    कोरोना काल में अपनी अहम् भूमिका निभाने वाले आरोग्यधाम की डॉ आरती मोहन व हेमंत मोहन का कहना है कि इस बार कोरोना के जो केश आ रहे है उनमे सिम्टम्स बहुत ज्यादा है| जिसमे कोरोना के सिम्टम्स के साथ-साथ डेंगू और टाइफाइड भी देखने को मिल रहा है| ऐसे मरीज डाक्टर से मिले बगैर दवा ले रहे है| जिसकी वजह से उनको काफी परेशानी हो रही है| उनका कहना है कि जो मरीज कोरोना से ग्रसित है वो केवल डाक्टर की सलाह  ले| इसमें होमियोपैथिक दवा काफी कारगार है| डाक्टरों का यह भी कहना है कि होमियोपैथिक दवा पूरी तरह से कारगार है जिसकी वजह से यह शरीर को रोगो से लड़ने के प्रति मजबूत करती है,,,इसलिए  होमियोपैथिक दवा का सेवन करे| जिससे कोरोना से बचाव हो सके| 

    इब्ने हसन जैदी
    आईएनए न्यूज़ एजेंसी, कानपुर उत्तर प्रदेश

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.