Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    श्रम कानूनों की प्रतियां जलाकर किया विरोध प्रदर्शन, 'कानून वापस लो' के नारे भी लगाये

    श्रम कानूनों की प्रतियां जलाकर किया विरोध प्रदर्शन, 'कानून वापस लो' के नारे भी लगाये

    शाहजहाँपुर-उत्तर प्रदेश : राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस इंटक के राष्ट्रीय नेतृत्व के आवाहन पर केन्द्र सरकार द्वारा श्रम कानून सुधारने के नाम पर किये गये संशोधन के विरोध में श्रम कार्यालय के सामने जिला अध्यक्ष पवन कुमार सिंह के नेतृत्व में इंटक द्वारा श्रम कानूनों की प्रतियां जलाकर विरोध प्रदर्शन किया गया। श्रमिकों ने केन्द्र सरकार मुर्दाबाद व मोदी सरकार मुर्दाबाद तथा संशोधित कानून वापस लो के नारे भी लगाये। इस अवसर पर आंदोलन में सम्मिलित श्रमिकों को सम्बोधित करते हुए इंटक जिलाध्यक्ष ने कहा कि केन्द्र की मजदूर विरोधी सरकार कुतर्को व दुष्प्रचार के द्वारा श्रमिकों को गुमराह करना चाहती है। पूंजीपतियों व उद्योगपतियों के हितों के लिये किये गए श्रम कानून संशोधन से श्रमिकों का शोषण बढ़ जायेगा। मजदूर विरोधी इन केन्द्र सरकार के इस फैसले के विरुद्ध राष्ट्रीय मजदूर कांग्रेस हर स्तर पर विरोध करेगी।

    इंटक महानगर प्रभारी नौशाद अली ने कहा कि पूंजीपतियों के सहारे सत्ता पर काबिज मोदी सरकार द्वारा उनके हित संरक्षण के लिए ही श्रम कानूनों में संशोधन किये हैं। बढ़ती बेरोजगारी के कारण जहाँ उनको मनमानी मजदूरी तय करने की छूट होगी वही छटनी के नाम पर उन्हें बाहर निकालने से श्रमिकों के रोजगार की गारन्टी भी समाप्त हो जायेगी।

    युवा इंटक जिलाध्यक्ष शान मोहम्मद खां ने कहा कि किसानों के लिये काला कानून बनाने वाली केन्द्र सरकार ने श्रमिक कानूनों में संशोधन कर यह स्पष्ट कर दिया कि वह पूरी तरह किसान और मजदूर विरोधी है। आज किसानों और मजदूरों को एक जुट होकर संघर्ष किये जाने की आवश्यकता है। आंदोलन में इकराम, हफीज, सिकंदर, सलीम, दिनेश सक्सेना, मो  उमर, नाजिम, अमन, मोअक़ील,बबलू व शान्ति भूषण आदि सम्मिलित रहे।

    फ़ैयाज़ उद्दीन
    आईएनए न्यूज़ एजेंसी, शाहजहाँपुर-उत्तर प्रदेश

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.