Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    महिला सीट आरक्षित होने पर बिना मुहूर्त के ही शादी रचाई, शादी न करने का संकल्प तोड़ा

    महिला सीट आरक्षित होने पर बिना मुहूर्त के ही शादी रचाई, शादी न करने का संकल्प तोड़ा

    बलिया : उत्तर प्रदेश के बलिया से पंचायत चुनाव को लेकर अनोखी ख़बर सामने  आई है ,बलिया के बैरिया  मुरली छपरा ब्लॉक के शिवपुर कर्णछपरा गांव के 38 साल  के  श़ख्स हाथी सिंह ने शादी न करने का संकल्प तोड़ा,  प्रधान पद के लिए आरक्षित महिला सीट होने पर चुनाव लड़ाने के लिए बिना मुहूर्त रचाई शादी। गांव के विकास के लिए विदेश की नौकरी छोड़ गांव आया था, और इस बार पंचायत चुनाव मे महिला सीट आरक्षित होने पर गांव वालों के कहने पर बिना मुहूर्त  ही शादी रचाई।

    हाथी सिंह

    हाथी सिंह नाम के इस श़ख्स ने कहा कि महिला सीट होने पर मायूस समर्थकों के कहने पर रचाई शादी, गांव का विकास करना  एकमात्र मकसद है। सात फेरे लेते इन तस्वीरों को गौर से देखिये, यह तस्वीरे बैरिया तहसील के मुरली छपरा ब्लॉक के कर्णछपरा गांव की है, जहाँ हाथी सिंह फेरे लेते नजर आ रहे है, हाथी सिंह की माने तो वह पिछले साल भी ग्राम प्रधान का चुनाव लड़े थे ,और दूसरे नंबर पर थे ।मगर इस बार यह सीट महिला के लिए आरक्षित हो गई है जिससे उनके समर्थक मायूस हो गए, और समर्थकों नें ही एक ही दिन में दुल्हन ढूंढ निकाला, और समर्थकों के कहने पर उन्होंने बिना मुहूर्त के ही अपनी संकल्प को तोड़ डाला । हाथी सिंह ने अपने गांव के ही धर्मनाथ जी कि मंदिर में 26 तारीख को ही शादी कर ली ,ताकि अपनी पत्नी को चुनाव लड़ा सके, बिना मुहूर्त के ही शादी इस लिए रचाई, ताकि पर्चा दाखिला की अंतिम तारीख 16 मार्च तक ही है।हाथी सिंह की माने तो वह विदेशो में 7 शाल तक नौकरी की मगर जब वह अपने गांव आया तो अपनी गांव के विकास को लेकर ठान लिया और उसने अपने गांव का विकास करने के लिए शादी नहीं करनें वाला संकल्प  भी तोड़ डाला। 

    आसिफ हुसैन जैदी
    आई एन ए न्यूज़ बलिया, उत्तर प्रदेश|

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.