Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    शाहनजफ़ की दीवार गिरने पर भड़के मौलाना, अधिकारियों पर एफआईआर की मांग

    लखनऊ/राज्य मुख्यालय : लखनऊ में सैकड़ों साल पुराने धार्मिक स्थल हजरतगंज स्थित शाहनजफ़ के इमामबाड़े की दीवार गिर जाने पर विवाद खड़ा हो गया है। जल निगम की देखरेख में हो रहे सीवर लाइन पर काम के दौरान अधिकारियों की लापरवाही से शाहनजफ इमामबाड़े की दीवार ध्वस्त हो गई। जिसपर ऑल इंडिया शिया चांद कमेटी के अध्यक्ष मौलाना सैफ अब्बास  ने कड़ा रुख अपनाते हुए दोषी अधिकारियों पर एफ आई आर की मांग की है।

    मौलाना सैफ अब्बास, अध्यक्ष ऑल इंडिया शिया चांद कमेटी

    हुसैनाबाद ट्रस्ट के अधीन आने वाले इतिहासिक शाहनजफ इमामबाड़े की दीवार जल निगम के अधिकारियों की लापरवाही की भेंट चढ़ गई बताया जा रहा है कि यहां पर सीवर लाइन बिछाने का कार्य चल रहा था अधिकारियों की लापरवाही के चलते ऐतिहासिक धर्म स्थल की दीवार गिर गई।

    जिस पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए ऑल इंडिया शिया चांद कमेटी के अध्यक्ष और मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना सैफ अब्बास में विरोध दर्ज कराया है। मौलाना सैफ अब्बास ने अपने जारी किए हुए बयान में कहा कि हुसैनाबाद ट्रस्ट हिंदुस्तान का महत्वपूर्ण ट्रस्ट है। जिसके अधीन कई ऐतिहासिक इमारतें आती हैं जिसमें शाहनजफ का इमामबाड़ा भी शामिल है।

    मौलाना सैफ अब्बास ने कहा कि जल निगम की ओर से वहां पर स्मार्ट सिटी की योजना के अंतर्गत काम चल रहा था और अधिकारियों की लापरवाही के चलते ऐतिहासिक इमामबाड़े की दीवार गिरा दी गई जो निंदनीय है। उन्होंने अधिकारियों के इस कार्य की सख्त अल्फाजों में मज़म्मत करते हुए कहा कि ऐसे अधिकारियों पर तुरंत एफआईआर होना चाहिए। मौलाना सैफ अब्बास ने इल्जाम लगाते हुए कहा कि यह कोई पहला मामला नहीं है जब हुसैनाबाद ट्रस्ट को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की गई है इससे पहले भी कई  बड़ी लापरवाहियां दूसरे विभागों के द्वारा की जा चुकी हैं।

    सैयद उवैस अली, इनपुट एडिटर 
    आईएनए न्यूज़ एजेंसी

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.