Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर पार्षद की दबंगई पुलिस की मिलीभगत से अपने गुर्गों से कराता है नाबालिक लड़कियों का अपरहण।

    कानपुर। कानपुर के कल्यानपुर थाना क्षेत्र की  रहने वाली नाबालिग छात्रा को कल्यानपुर विधानसभा वार्ड 17 की बसपा पार्षद रमा देवी पटेल के पुत्र पप्पल पटेल ने अपने गुर्गों के जरिए अपहरण कराने की कोशिश की छात्रा के शोर मचाने पर मौके पर पहुंचे राहगीरों ने दबंगों को खदेड़ा। 

    नाबालिक लड़कि

    आपको बताते चलें कि यह घटना 11 तारीख दिन रविवार शाम 4:00 बजे की है जब कक्षा 7 में पढ़ने वाली किशोरी अपनी कोचिंग से घर वापस जा रही थी तभी रास्ते में बैरी पुलिया के पास एक काले रंग की स्कार्पियो जिसका नंबर UP78GB4145आकर रूकती है उसी स्कॉर्पियो से तीन युवक जिनके नाम सचिन पटेल उर्फ डागा, पीयूष पटेल, व प्रिंस पटेल, नाम के तीन युवक गाड़ी से उतर कर जबरन नाबालिग छात्रा को अपने स्कॉर्पियो में घसीटने का प्रयास करते हैं। 

    नाबालिक लड़कि और उसकी माँ 

    तभी छात्रा के शोर मचाने पर राहगीरों ने बदमाशों को दौड़ा लिया पब्लिक को देखकर बदमाश उस नाबालिग छात्रा  को छोड़कर भाग जाते हैं तभी छात्रा की सूझबूझ ने भागते बदमाशों की गाड़ी का नंबर UP78 GB 4145 नोट कर लिया और घर आकर अपनी मां को घटना की जानकारी दी। 

    आनन-फानन छात्रा की मां ने नजदीकी पुलिस चौकी पर जाकर घटना की जानकारी दी चौकी पर मौजूद दरोगा व पार्षद पुत्र पप्पल पटेल ने पहले तो पीड़िता की मां से मामले का कंप्रोमाइज करने का दबाव बनाया जब पीड़िता की मां ने उच्च अधिकारियों तक जाने की धमकी दी तो चौकी पर मौजूद दरोगा ने पीड़िता से प्रार्थना पत्र लेकर मुकदमा पंजीकृत कर लिया पर पार्षद पुत्र पप्पल पटेल के कहने पर चौकी के दरोगा ने पीड़िता के दिए हुए प्रार्थना पत्र को ही बदल कर दो आरोपियों के नाम के साथ साथ घटना मैं मौजूद स्कॉर्पियो गाड़ी का नाम भी हटा दिया इतना ही नहीं घटना की रात से पार्षद पुत्र पप्पल पटेल व उनके गुर्गो के धमकी भरे फोन पीड़िता की मां के पास आने शुरू हो गए पीड़िता ने पार्षद पुत्र पर आरोप लगाते हुए बताया कि पार्षद पुत्र पप्पल पटेल व उनके गुर्गे फोन कर मुकदमा वापस लेने का बराबर दबाव बना रहे हैं और मुकदमा वापस न लेने पर पीड़िता व उसकी मां को जान से मारने की धमकी भी लगातार दे रहे हैं 11 तारीख से आज तक पीड़िता थाने चौकी के साथ-साथ उच्च अधिकारियों के चक्कर लगा रही है पर अभी तक दबंग पार्षद पुत्र पप्पल पटेल व उसके गुर्गों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई कार्रवाई न करने का एक कारण और भी है की पूर्व में नौशील धाम पुलिस चौकी में तैनात महिला दरोगा व मुख्य आरोपी सचिन पटेल की मां के काफी नजदीकी संबंध है।

    जिसकी फोटो व आरोपी सचिन पटेल की अवैध कट्टे के साथ फोटो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद भी पुलिस ने अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की। यही कारण है कि महिला दरोगा ने कल्यानपुर थाने में पीड़िता व उसकी मां को बुलाकर जबरन प्रार्थना पत्र को बदलवाने का काम भी किया था जिसके कारण तीन आरोपी और घटना में शामिल स्कॉर्पियो कार का जिक्र भी हटा दिया गया है अब देखना यह है कि जिस देश में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के नारे लगाए जाते हैं तो उसी उत्तर प्रदेश योगी राज्य में उस नाबालिग छात्रा को इंसाफ मिलेगा भी या नहीं।


    इब्ने हसन ज़ैदी 

    आईएनए न्यूज़ एजेंसी, कानपूर 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.