Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    धर्म नगरी अयोध्या में इस वर्ष रामनवमी पर्व एवं स्नान पर कोरोना का ग्रहण लग गया है

    अयोध्या। अयोध्या जनपद में  कोरोना के एक दिन मे 179 नए केस मिले है। 65 लोग हुए ठीकहै। एक्टिव कोरोना पॉजिटिव की संख्या बढ़कर हुई 1179 हो गयी है।  कोरोना संकटकाल के चलते इस वर्ष अयोध्या में राम नवमी का पर्व, श्री राम जन्मोत्सव, चैत्र रामनवमी का स्नान बड़े पैमाने पर नहीं हो पाएगा। जैसा कि रामनवमी के पर्व पर लाखों लाख लोग देश विदेश से आते थे। किंतु कोरोना ने ऐसा जुर्म ढहाया है कि इस वर्ष ऐसा नहीं हो पाएगा। मात्र सादगी के साथ श्रीराम जन्मोत्सव उत्सव मनाया जाएगा।35 घंटे के कोरोना कर्फ्यू के दौरान अनुमति दिए जाने के दिये निर्देश नई गाइडलाइन।

    श्रमिकों को उनके कार्यस्थलों पर आवाजाही की अनुमति दी जाएगी। शनिवार रविवार को सभी शादियां बंद स्थानों के अंदर 50 व्यक्तियों के प्रतिबंध और खुले स्थानों पर 100 व्यक्तियों के साथ मास्क, सामाजिक दूरी और सैनिटाइजर के उपयोग और एसओपी के अनुसार अन्य सावधानियों के साथ की अनुमति। सभी परीक्षाओं जैसे एनडीए आदि की अनुमति दी जाएगी और परीक्षार्थियों और उम्मीदवारों का आईडी कार्ड पास के तौर ओर मान्य होगा।

    सार्वजनिक परिवहन को विशेष रूप से राज्य परिवहन की बसों में 50% क्षमता के साथ चलने की अनुमति दी जाएगी। अंतिम संस्कार के लिए अंतिम संस्कार की सेवाओं में या 20 से अधिक व्यक्तियों को अनुमति नहीं दी जाएगी। 35 घंटे का लॉकडाउन, कड़ाई से होगा अनुपालन। जिलाधिकारी  व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक  ने कोविड-19 के सेकेण्ड वेब के प्रसार की रोकथाम व बचाव के दृष्टिगत कलेक्ट्रेट सभागार में व्यापार मण्डल के पदाधिकारियों व सम्बंधित विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की।  

    कोविड-19 की सेकेण्ड वेव में संक्रमितों की संख्या में तेजी से बढ रही है।  राज्य सरकार द्वारा जारी  17 अप्रैल 2021 की सायं से 19 अप्रैल की सुबह तक (35 घंटे) कोरोना कर्फ्यू का अनुपालन किया जायेगा। इसी के साथ ही जनपद के समस्त बाजारों में साप्ताहिक बंदी पूर्वत प्रभावी/लागू रहेगी‌। बैठक में जिलाधिकारी ने व्यापार मण्डल के पदाधिकारियों से कहा कि बिना मास्क के दुकान के अंदर किसी स्टाफ व ग्राहक को प्रवेश न करने दें। यह भी सुनिश्चित करें कि वे सभी मास्क ढंग से लगायें। 

    समस्त स्टाफ गलब्स अवश्य लगायें। ग्राहकों के दुकान में प्रवेश करने पर उनके हाथों को सेनीटाइज करें तथा आगन्तुक रजिस्टर में सभी ग्राहकों का नाम, पता व मोबाइल नम्बर तथा अन्य विवरण अंकित करें। दुकानों एवं प्रतिष्ठानों का रोजाना डिस्इंफेक्सन करायें। समस्त दुकानों के सामने दो-दो गज की दूरी पर गोला अवश्य बनवायें। सोशल डिस्टेंसिंग का प्रत्येक दशा में पालन अवश्य करें। दवाओं की दुकानों पर इसका विशेष ध्यान दें। जिलाधिकारी ने कहा कि पूर्व की भांति समस्त दुकानदार अपना-अपना होम डिलेवरी नम्बर पुनः जारी करें। 

    सामानों, भोजन, दूध आदि की होम डिलेवरी प्रारम्भ करें। इंडस्ट्रीज व होटलों के वर्करों की रेण्डमली समय-समय पर कोविड जांच अवश्य करायें। जिलाधिकारी ने व्यापार मण्डल  के पदाधिकारियों से भर्ती कोविड संक्रमितों को उपलब्ध कराने हेतु च्यावनप्राश, गिलोय वटी व आर्सेनिक-30 देने हेतु अपील की। इस अवसर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने कहा कि यह लहर पहली लहर से अधिक घातक एवं खतरनाक है, जिसका संक्रमण तेजी से फैल रहा है और सभी को विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है। इसे गम्भीरता से लें तथा इसमें जिला प्रशासन एवं पुलिस का पूर्ण सहयोग करें। व्यापार मण्डल द्वारा पूर्ण सहयोग हेतु आश्वस्त किया गया है।

    इस बार भी श्रीराम नवमी पर कोई भव्य आयोजन नही केवल सादगी से मनेगा जन्मोत्सव। राम जन्मभूमि परिसर में राम जन्मोत्सव का कोई भव्य आयोजन नही । सादगी के साथ परंपरागत तरीके से मनाया जाएगा रामलला का जन्मोत्सव। कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने लिए निर्णय।  21 अप्रैल को है रामनवमी राम जन्मोत्सव। अयोध्या में राम नवमी के अवसर पर राम जन्म उत्सव पर कोरोना का ग्रहण लग गया है पिछले साल की तरह इस वर्ष भी राम नवमी का पर्व, चैत्र रामनवमी का स्नान, मंदिरों में पूजा पाठ नहीं हो पाएंगे। सादगी के साथ रामनवमी मनाया जाएगा।


    देव बक्श वर्मा 

    आईएनए न्यूज़ एजेंसी, अयोध्या 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.