Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    मुकद्दस रमज़ान मे रहमत और मगफिरत के साथ जहन्नुम से होती हैं आज़ादी : नाज़िश

    मुकद्दस रमज़ान मे रहमत और मगफिरत के साथ जहन्नुम से होती हैं आज़ादी : नाज़िश

    सम्भल : रमजान मुबारक के मद्देनजर कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करते हुए रमजान मुबारक मे इबादत करने की अपील के साथ ह्यूमन केयर चैरिटेबल ट्रस्ट के संस्थापक नाज़िश नसीर खान ने कहा कि रहमत, मगफिरत के साथ जहन्नुम से आज़ादी दिलाने वाले मुकद्दस महीने रमज़ान का आगाज़ हो गया है। रमज़ान का महीना बेशुमार बरकतों वाला है। इस मुकद्दस महीने के तीन अशरे (हिस्से) होते हैं। इनमें रोज़ेदार पर अल्लाह ताआला की रहमत बरसती है। गुनाह माफ हो जाते हैं। जहनुन्न से आज़ादी मिलती है। अल्लाह के नेक बंदे इस महीने में इबादत करते हुए खुद को जन्नत का हकदार बना लेते हैं। माह-ए-रमज़ान का पहला अशरा रहमत का होता है। दूसरा अशरा मगफिरत का है। आखिरी और तीसरा अशरा जहन्नुम से आज़ादी का होता है। पहले दस दिन रहमत के अशरे में शामिल हैं।

    मुसलमानों को रोज़ा रखने के साथ तिलावत-ए-कलाम पाक और तरावीह की नमाज़ भी पाबंदी के साथ मुकम्मल करनी चाहिए। दूसरा अशरा मगफिरत का है। इस अशरे में अल्लाह बंदो की मगफिरत फरमाते हैं। रोज़ेदारों को उनके गुनाहों से आज़ाद करते हैं। तीसरा अशरा जहन्नुम से आज़ादी का होता है। तीसरे अशरे में अल्लाह अपने बंदों को जहन्नुम से निजात देते हैं। मुकद्दस महीने में मुसलमानों को रोज़ा रखने के साथ पांचों वक्त की नमाज़ व तरावीह पढ़नी चाहिए। रमज़ान का महीना बहुत ही बरकत वाला महीना है। यही वह अफज़ल महीना है जिसमें कुरआन-ए-पाक नाज़िल हुआ। इस माह-ए-मुबारक में अल्लाह की रहमत खुलकर अपने बंदों पर बरसती है। इस महीने में एक रात ऐसी भी है जो बड़ी कद्र, अमन-ओ-सलामती और बरकत वाली रात है। यह रात हज़ारर महीने से अफज़ल है जिसे लय लतुल-कद्र कहते हैं जिसे रमज़ान के आखिरी अशरे की ताक़ रातों में तलाश करना चाहिए। रमज़ान ऐसा महीना है जिसमें हर नेकी का सवाब 70 गुना कर दिया जाता है। रमज़ान के पहले अशरे (पहले दस रोजे) नेक बंदों पर अल्लाह की रहमतों की बारिश हो रही है। रमज़ान के 30 रोज़ो को तीन अशरों में बांटा गया है। पहला अशरा रहमत का होता है। रमज़ान के महीने में जन्नत और रहमत के दरवाज़े खोल दिए जाते हैं। जहन्नुम के दरवाज़े बंद कर दिए जाते हैं, शैतान को बेड़ियों में जकड़ दिया जाता है।

    उवैश दानिश
    आईएनए न्यूज़ एजेंसी, सम्भल-उत्तर प्रदेश 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.