Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    देवबंद: बुर्जुग और बीमार नमाजियों से घर पर ही नमाज अदा करने की दी हिदायत

    देवबंद: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के बीच आए रहमत और बरकतों वाले रमजान माह में मस्जिदों में इबादत का सिलसिला अधिक रहता है। इसलिए बुजुर्ग और बीमार लोगों को यह हिदायत दी जा रही है कि वह घर में रहकर ही तरावीह सहित अन्य इबादत करे। इसके साथ ही मस्जिदों में मास्क और दो गज की दूरी का कड़ाई से पालन कराया जा रहा है।  


    लोगों को कोरोना वायरस की जद में आने बचाने के लिए मस्जिदों में खासे इंतजाम किए गए हैं। मस्जिदों के मुख्य द्वार पर स्टेंड पर सैनिटाइजर और मास्क रखवाए गए हैं। मस्जिद में प्रवेश से पूर्व हाथों पर सैनिटाइजर लगाने और मुहं पर मास्क लगाए जाने को जरुरी करार दिया गया है। बिना मास्क लगाए मस्जिदों में प्रवेश नही मिलेगा। मरकजी जामा मस्जिद प्रबंधन ने नमाज के लिए आने वाले नमाजियों के लिए सभी दरवाजों पर सैनिटाइजर, मास्क रखवाए गए हैं। हर नमाज के बाद लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने तथा मास्क को मुहं पर अच्छी तरह लगाए जाने की हिदायत दी जा रही है। साथ ही मस्जिदों में बुर्जुगों और बीमार लोगों को आने के लिए मना किया गया है। मुतवल्ली हाजी अनवर उस्मानी ने बुजुर्ग नमाजियों से मस्जिद में न आने की अपील करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमर की चैन को तोड़ने के लिए जितना हो सके घरों में रहकर ही इबादत करें।


    शिब्ली इक़बाल 

    आईेंएनए न्यूज़ एजेंसी, देवबंद 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.