Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कानपुर कानपूर में ऑक्सीजन की कमी से सैकड़ो नौनिहालों की जान खतरे में सिलेंडर न मिलने पर नर्सिंग होम हटा रहे बच्चों को। ऑक्सीजन न होने से एम्बुलेंस चालक भी नही ले जा रहे बच्चों को।

    कानपुर। कानपुर में प्रशासनिक लापरवाही से ऑक्सीजन कितनी भारी कमी हो गई है कि नर्सिंग होम में भर्ती बच्चे बच्चों की जिंदगी खतरे में आ गई है आलम यह है ऑक्सीजन न मिलने से नर्सिंग होम के आईसीयू में भर्ती बच्चों को हटाया जा रहा है जबकि परिजन ऑक्सीजन के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं  हैरानी इस बात की है कि बच्चों को ट्रांसफर करने के लिए एंबुलेंस में भी ऑक्सीजन नहीं है एंबुलेंस चालक परिजनों की हालत देख कर उनको फ्री एंबुलेंस देने को तैयार हैं लेकिनऑक्सीजन  ना होने से उनकी एम्बुलेंस  भी कूड़ा बन खड़ी हो गई हैं आखिर मरीजों को ले जाए तो कैसे नर्सिंग होम वाले कह रहे हैं बच्चों की जिंदगी खतरे में है लेकिन हम क्या करें जब हम को सिलेंडर नहीं मिल रहा है आक्सीजन नही है  तो बच्चों को कैसे भर्ती रक्खे इसीलिए हम बच्चों को हटा रहे हैं बेहद दर्दनाक कहानियां हैं मां बाप के हाथ जोड़ रहे हैं। 


    कानपुर के किरनदीप हास्पिटल के बाहर  एम्बुलेंस वाले के हाथ जोड़कर प्राथना करता रानू इसकी बानगी है रानू का नवजात बच्चा दस दिन से एनसीसीयू में भर्ती था लेकिन मंगलवार को ऑक्सीजन न मिलने से हास्पिटल ने बच्चे कोले जाने को कह दिया  लेकिन स्थिति देखिए। जो एम्बुलेंस वालो पैसे के लिए  धंधा करता है वह बगैर पैसे की एम्बुलेंस दे रहा है कह रहा है  आप फ्री एम्बुलेंस ले जाओ लेकिन ऑक्सीजन नही हैऔर लाचार पिता बस यही कह रहा है कोई भी पैसा ले लो बच्चा दूसरे हास्पिटल पहुचा दो। 

    पिता।

    पिता- हास्पिटल में दस दिन से बच्चा है अब ऑक्सीजन न मिलने से हटा रहे है कही ऑक्सीजन नही मिल रही है एम्बुलेंस वाला भी ऑक्सीजन न होने से जा नही रहा है सबसे कह  चुके है कोई हेल्प नही हो रही है 

    सचिन 

    सचिन। सर ऑक्सीजन नही है कैसे ले जाए  फ्री ले जॉय एम्बुलेंस कहि सिलेंडर नही मिल रहे है

    कानपुर के नर्सिंग होमो में भर्ती सैकड़ो नौनिहाल का यही हाल है खुद नर्सिंग होम वाले लाचार है कि  खतरे की दहलीज पर पड़े मासूमो को डिस्चार्ज करना पड़ रहा है और शहर के अधिकारी कह रहे है ऑक्सीजन की कमी नही है कोई कैमरे पर इस दर्द का इलाज बताने वाला नही है

    सर क्या करे कहि से आक्सीजन नही मिल रही है इसलिए डिस्चार्ज कर रहे है सभी  बच्चों को हटा दिया है

    पूरा शहर ऑक्सीजन को लेकर परेशान है कोरोना मरीजो का आक्सीजन लेबल काफी कम जो गया है सरकारी हॉस्पिटलों में भी जबरदस्त किल्लत है यकीन कानपुर के जोबे  जिम्मेदार बने बैठे है वह  न फोन उठा रहे है न ऑक्सीजन पर कोई ठोस जवाब दे रहे है।


    इब्ने हसन ज़ैदी 

    आईएनए न्यूज़ एजेंसी, कानपुर 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.