Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    कोर्स की किताब में हजरत मोहम्मद साहब का काल्पनिक चित्र प्रकाशित करने पर मुस्लिम समाज में उबाल

    कोर्स की किताब में हजरत मोहम्मद साहब का काल्पनिक चित्र प्रकाशित करने पर मुस्लिम समाज में उबाल

    पुस्तक के प्रकाशक और लेखक के खिलाफ कार्रवाई करे सरकारः दारुल उलूम

    देवबंद : कक्षा चार की सोशल साइंस की पाठ्य पुस्तक में इस्लाम मजहब के अंतिम पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब का काल्पनिक चित्र प्रकाशित किए जाने से मुस्लिम समाज में भारी रोष बना हुआ है। इस्लामिक शिक्षण संस्था दारुल उलूम के मोहतमिम मौलाना मुफ्ती अबुल कासिम नोमानी ने कहा कि शैक्षिक संस्थाओं पर शांतिपूर्वक दबाव बनाया जाए कि वह उक्त पुस्तक को कोर्स में शामिल न करें। साथ ही मौलाना नोमानी ने केंद्र व राज्य सरकार से प्रकाशक व लेखक के खिलाफ कार्रवाई करने तथा पुस्तक को प्रतिबंधित किए जाने की मांग की है।

    स्कूलों में नए सत्र को कक्षा-४ के बच्चों की पढ़ाई के लिए आए कोर्स की सोशल साइंस की पुस्तक के पेज नंबर-८९ में आखिरी पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब का काल्पनिक चित्र प्रकाशित किया गया है। इस पर नाराजगी जताते हुए दारुल उलूम मोहतमिम मुफ्ती अबुल कासिम नोमानी ने कहा कि कुछ लोग जानबूझकर ऐसे काम कर रहे हैं जिससे देश को बिखराख के रास्ते पर खड़ा कर सकें। पुस्तक के प्रकाशक और लेखक का यह कृत्य बर्दाश्त के लायक नहीं है। उन्होंने केंद्र व राज्य सरकार से उक्त पुस्तक के प्रकाशक, लेखक व अन्य जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाई करने तथा पुस्तक को प्रतिबंधित करने की मांग की है। उन्होंने यह भी कहा कि इस बात की जांच होनी चाहिए कि इस तरह की हरकतों के पीछे प्रकाशक और लेखक की क्या मंशा है। उन्होंने मुसलमानों से आह्वान किया कि वह उक्त पुस्तक को कोर्स में शामिल न करने के लिए शैक्षिण संस्थाओँ पर शांतिपूर्वक तरीके से दबाब बनाएं।

    शिबली इक़बाल 
    आईएनए न्यूज़ एजेंसी  सहारनपुर उत्तर प्रदेश

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.