Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    गया। जिला पदाधिकारी ने एनसीएस ब्लॉक में पीपीई किट पहनकर संक्रमित मरीज के वार्ड में जाकर मरीजों के इलाज खानपान दवा ऑक्सीजन एवं अन्य सुविधा के संबंध में जानकारी प्राप्त की

    गया। ज़िला पदाधिकारी, अभिषेक सिंह द्वारा आज अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल, गया का संघन निरीक्षण करते हुए कोविड संक्रमण के बढ़ते प्रभाव के मद्देनजर सुरक्षा एवं बचाव संबंधी निदेश देते हुए स्वयं पीपीई किट पहनकर कोरोना से संक्रमित भर्ती मरीज के पास जाकर उनका हाल चाल जाना, उनकी समस्याओं से रूबरू हुए तथा उनकी इलाज, खानपान सहित अन्य सुविधाओं के बारे में जानकारी प्राप्त किया।

    ज़िला पदाधिकारी ने प्रभारी अधीक्षक, एएनएनएमसीएच को सख्त निदेश दिया कि सभी डॉक्टरों का समुचित सदुपयोग करें ताकि मरीज के इलाज में किसी प्रकार की कमी न रहे। उन्होंने निदेश दिया कि वार्ड में ऑक्सीमेटर पर्याप्त संख्या में रखे ताकि समय समय पर मरीजो का ऑक्सीजन लेवल की जांच की जा सके। उन्होंने चिकित्सक के ड्यूटी लिस्ट का निरीक्षण करते हुए निदेश दिया कि सभी चिकित्सकों का फुल ड्यूटी लिस्ट तैयार करें। किसी चिकित्सक को बैठा कर न रखे। उन्होंने गंभीर संक्रमित मरीज के पास इलेक्ट्रिक बेल लगाने का निदेश दिया ताकि किसी प्रकार की समस्या होने पर बेल बजाकर चिकित्सा कर्मी, वार्ड बॉय को अपनी समस्या बता सके। मरीजो के परिजनों को उनके मरीज का हाल चाल लेने हेतु मरीजो के लिए बने शेड में इण्टरकॉम लैंडलाइन लगाने का निदेश दिया ताकि वार्ड बॉय, चिकित्सा कर्मी, परिचारिका से बात कर अपने मरीज की स्थिति से अवगत हो सके। 

    ज़िला पदाधिकारी ने एमसीएच ब्लॉक (मातृ शिशु अस्पताल) में पीपीई किट पहनकर संक्रमित मरीज के वार्ड में जाकर मरीजो के ईलाज, खानपान, दवा, ऑक्सीजन एवं अन्य सुविधा के संबंध में जानकारी प्राप्त किया। उन्होंने निदेश दिया कि एमसीएच के प्रत्येक फ्लोर के लिए चिकित्सक प्रभारी की ड्यूटी लगावें। साथ ही नर्सेज की संख्या में बढ़ोतरी करें। ज़िला पदाधिकारी को बताया गया कि भर्ती मरीज की स्थिति से संबंधित प्रतिदिन बुलेटिन जारी किया जा रहा है।

    उन्होंने बताया कि एएनएमएमसीएच में कोरोना से संबंधित मरीज की भर्ती हेतु 250 बेड की तैयारी की जा रही है। ज़िला पदाधिकारी द्वारा एफएमटी तथा इमरजेंसी वार्ड का निरीक्षण करते हुए आवश्यक निदेश दिया। उन्होंने मीडिया कर्मी को बताया कि एएनएमएमसीएच में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है, लगभग 600 सिलिंडर प्रतिदिन लग रहे हैं। 

    ज़िला पदाधिकारी ने बताया कि ऐसे मरीज जिनका ऑक्सीजन लेवल 94 से कम है, वे ही अस्पताल में भर्ती हो। उन्होंने अपना अनुभव साझा करते हुए बताया कि उन्होंने दोनों टीका का खुराक लिया, इस लिए अस्पताल में जाने की नौबत नहीं आयी तथा गंभीर लक्षण प्रकट नहीं हुए। उन्होंने लोगों से अपील किया है कि अधिक घबराने की ज़रूरत नहीं है, अपनी बारी आने पर कोरोना के दोनों टीका लें, मास्क अवश्य पहने तथा सामाजिक दूरी बनाए रखे। उन्होंने मरीज़ों तथा उनके परिजनों से डॉक्टर एवं स्वास्थ्य कर्मियों के साथ अच्छा बर्ताव करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि सभी चिकित्सक एवं स्वास्थ्य कर्मी सदैव मरीजो की सेवा में तत्पर रह रहे है। 

    ज़िला पदाधिकारी ने सैंपल की जांच में तेजी लाने तथा 24 घण्टे जांच कार्य चलाने का निदेश दिया। उन्होंने लैब टेक्नीशियन की संख्या बढ़ाने का निदेश दिया ताकि सैंपल का परिणाम शीघ्रता के साथ प्राप्त हो सके। निरीक्षण के क्रम में सहायक समाहर्त्ता, प्रभारी अधीक्षक, एएनएमएमसीएच, प्रभारी प्राचार्य, एएनएमएमसीएच, ज़िला जन सम्पर्क पदाधिकारी सहित अन्य संबंधित पदाधिकारी/चिकित्सक मौजूद थे।


    प्रमोद कुमार यादव

    Initiate News Agency (INA), गया

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.