Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    देवबंद। कोराना महामारी में भी बाजारों में बढ़ रही अतिक्रमण की समस्या

    देवबंद। नगर में अतिक्रमण की समस्या विकराल रूप धारण कर लिया है। आलम यह है कि हाइवे पर बने विशाल फलाईओवर के निचे जहां कई जगहों पर बाजार बन गए हैं वहीं नगर के बाजार बुरी तरह अतिक्रमण के शिंकजे में जाम हैं। कोरोना संक्रमण के चलते संकरी गलियों का रुप ले चुके बाजारों में चलने में भी लोगों को डर लगने लगा है।

    नगर के रेलवे रोड, भायला रोड, एमबीडी चैक, अनाज मंडी, सब्जी मंडी, बस स्टैंड सडक़, मुख्य बाजार, मीना बाजार, मंगलौर रोड, दारुल उलूम रोड, सरसटा बाजार, रैती चैक, मोहल्ला लहसवाड़ा सहित पूरा नगर अतिक्रमण की चपेट में है। आलम यह है कि जाम के चलते लोगों का सडक़ों से पैदल गुजरना भी दूभर हो चला है। मेन बाजार सहित शास्त्री चैक और सांपला रोड तिराहे पर अतिक्रमण का हाल बेहाल है। कोतवाली के सामने स्थित सब्जी मण्डी में दुकानदारों ने कई-कई फीट सडक़ पर अतिक्रमण किया हुआ है। 

    सार्वजनिक सडक़ के दोनों किनारे रेहडिय़ां और मोटर साइकिलें आदि खड़ी रहने से बाजार में दिनभर जाम की स्थिति बनी रहती है। जो कोरोना काल में और अधिक खतरनाक सिद्ध हो रही है। इतना ही नहीं नगर के अधिकांश बैंकों के बाहर बाइक व अन्य वाहन खड़े होने से भी अतिक्रमण का बुरा हाल है। नगर वासियों ने कोरोना काल में बाजारों में अधिक भीड़ का कारण बनने वाले अतिक्रमण से निजात दिलाए जाने की मांग की है। हालंाकि सामाजिक संगठन भी कई बार प्रशासन से इस और ध्यान देने की बात कह चुके है।

    -ई रिक्शा भी है जाम का कारण

    देवबंद। नगर के बाजारों में ई-रिक्शा के कारण जाम की स्थिति रहती है। इतना ही नहीं बाजार में अक्सर ई-रिक्शा चालकों की आम लोगों के साथ बहस हो जाती है और नौबत मारपीट तक पहुंच जाती है। सामाजिक संगठनों के लाख चीखने चिल्लाने के बाद भी प्रशासन द्व। 


    शिब्ली इक़बाल 

    आईएनए न्यूज़ एजेंसी, देवबंद 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.