Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    चार सौ की आबादी वाला गांव 3 महीने से अंधेरे में जी रहा जीवन

    चार सौ की आबादी वाला गांव 3 महीने से अंधेरे में जी रहा जीवन

    झांसी-उत्तर प्रदेश : ब्लॉक बंगरा का ग्रामपंचायत विजवारा का बघौरा गांव विद्युत डीपी फुके होने से यहां के निवासी 4 महीने से अंधेरे में जीवन यापन कर रहे हैं विद्युत विभाग की भ्रष्टाचारी गुंडई अवैध वसूली के चलते यहां पर लाइनमैन द्वारा कई बार पैसे लिए गए लेकिन आज तक गांव में डीपी नहीं बदली गई अगर 72 घंटे के अंदर गांव में डीपी नहीं बदली जाती है तो मजबूरन विद्युत विभाग का घेराव किया जाएगा धरना प्रदर्शन किया जाएगा । किसान कांग्रेस के बैनर तले आज किसान चौपाल जनपद झांसी का यह गांव बाघोरा मध्य प्रदेश के बॉर्डर से जुड़ा हुआ है और मूलभूत समस्याएं सुनने के लिए यहां अधिकारी नहीं पहुंच पाते हैं ना तो इस गांव में आने जाने के लिए कोई पक्का रोड है यहां की महिलाएं बच्चे समय से स्कूल नहीं पहुंच पाते हैं|

    बारिश होने के बाद यहां निकलना दूभर हो जाता है अगर कोई यहां पर बीमार हो जाए तो अस्पताल नहीं पहुंच पाता महिलाओं की डिलीवरी के समय में भी अस्पताल नहीं पहुंच पाती हैं रास्ते में ही कई मरीज दम तोड़ देते हैं जहां भाजपा सरकार कह रही है कि हमने हर गांव को रोड से जोड़ दिया है वहीं दूसरी ओर इस गांव की स्थिति यह है कि विजवारा से बघौरा तक जिसकी लंबाई 3 किलोमीटर है आने जाने के लिए कोई रोड आज तक नहीं बना मध्य प्रदेश से जुड़ा यह गांव विकास से कोसों दूर है यहां ना गांव में सीसी रोड है ना कोई व्यवस्था है यहां के अन्ना जानवर मवेशी बिजली ना होने के कारण भूख प्यास से दम तोड़ देते हैं आज ग्राम बघौरा में पंचायत हुई जिसमें सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया अगर 72 घंटे के अंदर गांव में विद्युत डीपी नहीं बदली जाती तो विद्युत विभाग के खिलाफ आंदोलन किया जाएगा । गांव के पूर्व प्रधान माता दी ना रहने का 3 माह से बिजली ना होने से गांव में मच्छरों ने खूब बीमारी फैला रखी है और यहां का ग्रामीणों खून के आंसू रो रहा है बिजली विभाग कुंभकर्ण की नींद में सो रहा है उत्तर प्रदेश किसान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष शिव नारायण सिंह परिहार ने कहा किसानों की समस्याओं के प्रति सरकार संवेदनशील नहीं है किसान गरीब मजदूर मरे या जिए अपने भाग्य से विद्युत विभाग के द्वारा 3 माह से गांव में बिजली ना होना बड़ा पीड़ादायक है आखिर यहां भी इंसान रहते हैं मनुष्य रहते हैं आखिर करा गरीबों की सुनने वाला कोई नहीं है विद्युत विभाग अगर 72 घंटे के अंदर इस गांव की लाइट चालू नहीं करता यहां का ट्रांसफार्मर नहीं बदलता तो विद्युत विभाग का घेराव किया जाएगा गांव में रोड नहीं है गांव में सीसी नहीं है जिम्मेदार गहरी नींद में सो रहे हैं किसान कांग्रेस इनको जगाने का काम करेगी हर हाल में किसानों को न्याय दिलाएगी। गांव के किसान प्रतिपाल सिंह ने कहा बिजली ना होने से रोड ना होने से यहां के निवासियों को भारी समस्याओं का सामना करना पड़ता है सरकार जल्दी से यहां रोड बनवाए और विद्युत व्यवस्था सुचारु रुप से चालू करें। पंचायत में प्रमुख रूप से प्रतिपाल सिंह राज कुमार सिंह रहमान का मंजू लाल मातादीन बत्ती खान हरचरण प्रदीप घासीराम मजीद खां सुरेन्द्र पुष्पेंद्र अमर प्रशांत बाबूलाल बृजेश शर्मा रामपाल करन प्रमोद संतोष सोनू दीपक अनिल संतोष सतेंद्र मोबीन खान रहमान खान सालक राम धर्मेंद्र हीरालाल कल्लू मुकेश शैलेंद्र नीरज बृजेश रमेश बाबू मोरम बत्ती खान हसीना बबीना सामना बबीता निराशा प्रियंका विमला देवी पिंकी रिंकी उमा बबीता कल्पना राखी उर्मिला मीना मुन्नी रामप्यारी प्यारेलाल बेधड़क रामचंद्र बुढ़िया किशोरी लाल यादव विनोद झा शिव नारायण सिंह परिहार रामधार निषाद शेखर राजभर ोनिया हरीश चंद्र मिश्रा आदि कई दर्जन ग्रामीण उपस्थित रहे|

    सुल्तान आब्दी
    आईएनए न्यूज़ एजेंसी, झांसी-उत्तर प्रदेश

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.