Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    गया। आयुक्त मगध प्रमंडल मयंक वरवड़े की अध्यक्षता में कोविड-19 मरीजों का अधिक से अधिक बेहतर इलाज के लिए व्यवस्था के लिए बैठक आयोजित की गई

    गया। मयंक वरवड़े की अध्यक्षता में एएनएमएमसी एच में कोविड से संक्रमित मरीजो का और अधिक बेहतर इलाज एवं व्यवस्था कराने के उद्देश्य से बैठक आयोजित की गई। आयोजित बैठक में आयुक्त ने सभी संबंधित चिकित्सकों से अनुरोध किया कि भर्ती मरीजो के वार्ड में पीपीई किट पहनकर जाए तथा मरीजो का हाल चाल, उनकी समस्याओं एवं व्यवस्था के संबंध में जानकारी प्राप्त करें। उन्होंने निदेश दिया कि डॉक्टर वार्ड में राउंड पर अवश्य जाए। साथ ही एमसीएच, ईएनटी एवं एमरजेंसी वार्ड में अलग अलग डॉक्टर इंचार्ज बनावे ताकि अन्य डॉक्टर उनके निर्देशन में कार्य करे। उन्होंने निदेश दिया कि मेडिकल बुलेटिन नियमित रूप से निकाला जाए। 

    बैठक में निर्णय लिया गया कि रेंडीसीवीर इंजेक्शन के लिए चिकित्सक का रेकॉमेंनडेशन, मरीज की जांच संबंधी पॉजिटिव रिपोर्ट एवं आधार कार्ड आवश्यक है। बैठक में ऑक्सीजन की उपलब्धता की समीक्षा करते हुए निदेश दिया गया कि इसका संधारण सही ढंग से किया जाए। आरटीपीसीआर की जांच की रिपोर्ट 24 घण्टे के अंदर देने का निदेश दिया गया। साथ ही जो इंटर्न चिकित्सक हैं, उनकी सेवा भी लेने का निदेश दिया गया। 

    आयुक्त ने प्रभारी अधीक्षक को निदेश दिया कि एएनएमएमसीएच में आवश्यक कार्य करावे। रोगी कल्याण समिति द्वारा अनुमोदन किया जाएगा। उन्होंने निदेश दिया कि कुछ चिकित्सकों को रिज़र्व में रखे ताकि आवश्यकता पडने पर उनका उपयोग किया जा सके। उन्होंने वरीय चिकित्सकों को संबोधित करते हुए कहा कि आप लोग अच्छा कार्य कर रहे हैं,  परस्पर समन्वय स्थापित कर इस आपदा की परिस्थिति में और अधिक अच्छा कार्य करे ताकि भर्ती रोगी को संतुष्टि मिल सके। 

    बैठक में जिला पदाधिकारी ने कहा कि चिकित्सक/पैरामेडिकल स्टाफ नियमित रूप से मरीज़ का ऑक्सीजन लेवल की जांच करते रहे तथा जिन्हें ऑक्सीजन की आवश्यकता है, उन्हें ऑक्सीजन अवश्य दें। उन्होंने नियंत्रण कक्ष को और अधिक प्रभावी बनाने का निदेश दिया। नियंत्रण कक्ष से प्राप्त होने वाले कॉल को चिकित्सक अवश्य रिसीव करे तथा नियंत्रण कक्ष के नंबर को सेव करले ताकि मरीजो का इलाज और अधिक बेहतर तरीके से हो सके। अस्पताल के सामान्य प्रबंधन को और अधिक प्रभावी बनाने की आवश्यकता है, जो सुविधा/उपकरण हमारे पास है, उसका समुचित उपयोग करना आवश्यक है। 

    ज़िला पदाधिकारी ने अस्पताल की साफ सफाई पर विशेष ध्यान देने का निदेश दिया तथा प्रभारी अधीक्षक को कहा कि आउटसोर्सिंग एजेंसी अगर अच्छी तरह अस्पताल की सफाई नहीं करते हैं तो उनसे स्पष्टीकरण पूछे, फिर भी सुधार नहीं होने पर उनके भुगतान में कटौती करें। उन्होंने कहा कि एएनएमएमसीएच में 200 से 250 बेड ऑक्सीजन सहित तैयार होना आवश्यक है तथा बिना ऑक्सीजन के लगभग 100 बेड तैयार होना चाहिए। कोविड संक्रमण के बढ़ते प्रभाव के कारण हमें बेड को बढ़ाने की आवश्यकता है। उन्होंने निदेश दिया कि मेडिकल बुलेटिन में संबंधित मरीजो के स्वास्थ्य के बारे में बतावे तथा उन्हें नोटिस बोर्ड पर अच्छी तरह प्रदर्शित करें। साथ ही मरीजो के परिजन को उनके मरीज के इलाज संबंधी बातों की जानकारी देते रहे। 

    बैठक में जिला पदाधिकारी, सिविल सर्जन, सहायक समाहर्त्ता, प्रभारी अधीक्षक एवं प्राचार्य, आयुक्त के सचिव सहित वरीय चिकित्सक एवं अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।


    प्रमोद कुमार यादव 

    Initaite News Agency (INA), गया 

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.