Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    बैतूल।बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखकर,महिलाओं ने लिया ये फैसला,गांव को स्वयं ही कर दिया लॉक,बांस के बेरिकेट लगाकर, लठ्ठ लेकर खुद ही बैठ गई पहरा देने,14 घंटे करती है निगरानी ,बाहरी लोगों के प्रवेश पर लगाई सख्त रोक

    बैतूल/मध्यप्रदेश। में कोरोना के खिलाफ जंग जारी महिलाएं  दे रही अपना योगदान ,जनता कर्फ्यू लगा कर हाथों में लाठी लेकर  दे रही पहरा। कोरोना के लगातार बढ़ते संक्रमण से हर कोई  है हैरान और परेशान।ऐसे में सरकार और स्थानीय प्रशासन तो कड़े फैसले ले ही रहा है लोगों को भी अपनी जान बचाने कड़े फैसले लेने पड़ रहे हैं।

    बैतूल के एक गांव में ग्रामीणों ने पूरे गांव को लॉक कर दिया है। खास बात यह है की इसका फैसला गांव की महिलाओं ने लिया और जनता कर्फ्यू लगा कर वे खुद लाठियां लेकर गांव की निगरानी कर रही है कि कोई गांव में प्रवेश तो नहीं कर रहा है। जिला मुख्यालय से लगा गांव चिखलार यूं तो कच्ची शराब बिक्री के लिए बदनाम रहा है।लेकिन इस बार गांव की महिलाओं ने इसे लॉक कर सुर्खियों में ला दिया है। महिलाओं ने गांव में बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है। यहीं नहीं वह गांव के करीब से गुजरने वाले  स्टेट हाईवे पर भी आने जाने वालों की निगरानी कर रही है। महिलाओं ने यहां लाठी लेकर मोर्चा संभालते हुए गांव की सभी सीमाएं बांस के बैरिकेड लगाकर सील कर दी है। गांव में किसी भी बाहरी व्यक्ति, अतिथि मेहमान का प्रवेश वर्जित कर दिया गया है।

    महिलाएं यहां पूरे दिन चौकीदारी करती हैं कि कोई गांव में प्रवेश ना करें ।इसके साथ ही वह आने जाने वालों को भी रोकती टोकती है। यहां तक कि वे फालतू घूमने वालो पर लाठियां बरसाने से भी नही चूकती।महिलाओं के मुताबिक अपने गांव को संक्रमण से बचाने के लिए उन्हें यह कड़ा फैसला करना पड़ा है । खास बात यह है कि इस गांव में एक भी संक्रमित अब तक नही है। और इसी को ध्यान में रखते हुए गांव की महिलाओं ने ये फैसला लिया है ताकि गांव में कोरोना का संक्रमण न फैले और उनके बल बच्चे इस महामारी की चपेट न आ जाएं।




    शशांक सोनकपुरिया

    Initiate News Agency (INA), बैतूल/मध्यप्रदेश

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.