Header Ads

  • INA BREAKING NEWS

    बिहार सैन्य पुलिस विशेष बिल को वापस लेन की मांग पर बिहार बंद सफल- माले

    बिहार सैन्य पुलिस विशेष बिल को वापस लेन की मांग पर बिहार बंद सफल- माले

    • किसान विरोधी तीनों कृषि काला कानून को वापस लेने
    • किसान आंदोलनों पर दमन के खिलाफ भारत बंद
    • बिहार विधानसभा में विपक्षी विधायकों के साथ मार-पीट, बदतमीजी के खिलाफ

    गया| विधानसभा सभा के भीतर पीछले 23 मार्च को सत्ताधारी दल जदयू-भाजपा, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इशारे पर विधानसभा अध्यक्ष ने सदन के अंदर जनविरोधी काला कानून का विरोध करने पर बाहर से पटना के एसपी-डीएम, और पुलिस बल बुलवाया गया। जो इतिहास का काला दिन साबित हुआ।विपक्षी विधायकों को विधानसभा में पुलिस बुलवाकर बाहर फेंकने, मारने पीटने, महिला विधायकों के साथ बदतमीजी करने,की घटना ने लोकतंत्र के इतिहास में काला दिन साबित हुआ है। गया में भारत-बिहार बंद कराने भाकपा-माले,राजद कांग्रेस, भाकपा, माकपा कार्यकर्ता सड़कों पर उतरकर केन्द्र व राज्य सरकार की नीतियों का जोरदार विरोध किया। भाकपा माले कार्यकर्ता सुबह 6:00 बजें से ही सड़क पर उतर आए।और रोड जाम तथा बाजार बंद कराया। 

    सबसे पहले गया-टिकारी-कुर्था रोड SH-69 लोदीपुर कोंच, टिकारी में गया-पटना रोडSH-83डोभी-बेलागंज, गया-खिजरसराय-पटना रोड SH-04 को खिजरसराय में ,जीटी रोड N H-02 को डोभी शेरघाटी घंटों जाम किया गया।गया मुख्यालय सहित प्रखंड मुख्यालयों-बाजारों को बंद कराया गया। गया जिला मुख्यालय में भाकपा माले जिला सचिव निरंजन कुमार,ऐपवा जिला सचिव रीता बर्नवाल,माले जिला कमिटी सदस्य सुदामा राम रामचंद्र प्रसाद,मो•अजीम, अरबिंद तांती, कामता प्रसाद बिंद, आनंद कुमार, किसान नेता नवल किशोर यादव, शंभू सिंहा,आइसा की कुमारी खुशबू, महिला नेत्री बरती देबी, सुनीता देबी आदि नेताओं के नेतृत्व में जुलूस निकाला गया।राजद बेलागंज विधायक डा•सुरेन्द्र प्रसाद यादव, जिलाध्यक्ष मो•नेजाम,महानगर अध्यक्ष जीतेन्द्र यादव, भाकपा के सीताराम शर्मा, माकपा के पीएन सिंह, कांग्रेस जिलाध्यक्ष चंद्रीका प्रसाद यादव, आदि नेताओं के नेतृत्व में जुलूस निकाला गया। टिकारी रोहन यादव,रवि कुमार, परैया उपेन्द्र यादव, बेलागंज में मुन्द्रीका राम, खिजरसराय में परशुराम राय, फतेहपुर में बीरेंद्र सान्याल,डोभी में रामलखन प्रसाद, शीला वर्मा, बाराचट्टी में चंद दास आदि नेताओं ने अलग-अलग प्रखंडों में नेतृत्व किया। भाकपा माले जिला सचिव निरंजन कुमार ने कहा कि होली और सवेबारात त्यौहार के कारण पार्टी कार्यकर्ताओ को संयम बरतने के साथ- साथ बंद को सफल करने को कहा गया था। केन्द्र-राज्य सरकार की जनविरोधी नीतियों का व्यापक जनता विरोध जताया और बंद का समर्थन किया।माले समेत महागठबंधन नेताओं ने बंद को असरदार व सफल बताया है|

    प्रमोद कुमार यादव

    आईएनए न्यूज़ एजेंसी, गया, बिहार

    Post Top Ad


    Post Bottom Ad


    Blogger द्वारा संचालित.